ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

पीएम कुसुम योजना : रबी सीजन में सिंचाई से पहले उठाए सरकार की योजना का लाभ

पीएम कुसुम योजना : रबी सीजन में सिंचाई से पहले उठाए सरकार की योजना का लाभ
पोस्ट -01 दिसम्बर 2022 शेयर पोस्ट

Pradhan Mantri Kusum Yojana : किसानों को सोलर संयंत्र लगवाने पर मिलेगी 60 प्रतिशत सब्सिडी 

कृषि के क्षेत्र में लगातार आ रही नई चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है। कृषि के लिए किसानों को पर्याप्त पानी मिल सके इसके लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन कर रही है। वहीं, कृषि के क्षेत्र में भूमिगत जल के दोहन कम हो और कम पानी से अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए पानी की एक-एक बूंद का सही इस्तेमाल करने के लिए किसानों को प्रोत्साहन कर रही है। खेती में सिंचाई के नये-नये तकनीकों को भी बढ़ावा दे रही है। खेती में सिंचाई की समस्या को खत्म करने एवं बढ़ते डीजल और बिजली के दामों से किसानों को बचने के लिए केंद्र सरकार ने साल 2019 में पीएम कुसुम योजना को लॉन्च किया। इस योजना के तहत देश भर में उपयोग किए जाने वाले सभी डीजल पंप एवं  डिजिटल बिजली पंपों को सौर ऊर्जा पंपों में बदलने का प्रावधान किया गया। योजना का मैंन उद्देश्य किसानों को सिंचाई के लिए बेहतर साधान देना है। डीजल पंपों को बिजली एवं डिजिटल बिजली पंपों को ग्रिड से जुड़ी बिजली पर निर्भर रहने से मुक्त करना है। इसके लिए किसानों को योजना के तहत अपने खेतों में सोलर पंप स्थापित करने पर 60 प्रतिशत सब्सिडी की सुविधा भी दी जाती है। केंद्र सरकार की इस योजना से किसानों की सिंचाई की समस्या खत्म हो सकती है। एवं किसान सोलर संयंत्र से अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं। तो आइए ट्रैक्टरगुरु के इस लेख के माध्यम से केंद्र सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के बारे में जानते है।

New Holland Tractor

किसान 10 प्रतिशत खर्चे पर स्थापित कर सकते सोलर संयंत्र

देश में ग्रिडी बिजली आपूर्ति संकट के कारण ग्रिड से जुड़े बिजली पंपों काफी ज्यादा प्रभावित हुए है। किसानों को सिंचाई के लिए समय पर बिजली न मिलने के कारण सही समय पर फसलों की सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल रहा है। जिससें फसलों का उत्पादन भी प्रभावित होता है। सिंचाई संबंधित इन सब समस्याओं को जड़ से खत्म करने के लिए केंद्र सरकार पीएम कुसुम योजना को लेकर आई। केंद्र की इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत किसानों को सोलर पंप लगाने के लिए बड़े पैमाने पर सरकारी सहायता दी जाती है। केंद्र की इस योजना में पंचायतों और सहकारी समितियों को भी यह सहायता दी जाती है। पीएम कुसुम योजना के तहत खेतों मे सोलर पंप लगवाने पर होने वाले कुल खर्चे लागत का 90 प्रतिशत व्यय सरकार वहन करती है। इसके किसानों को खर्च लागत का मात्र 10 प्रतिशत स्वयं भुगतान करना होता है। जिसमें केंद्र और राज्य सरकारें लागत का 60 प्रतिशत सब्सिडी के रूप में किसानों को देती है। बाकि 30 प्रतिशत तक का ऋण बैंकों द्वारा किसानों को प्रदान करती है। इस हिसाब से किसानों को सोलर पंप खेतों में लगवाने पर ऋण के रूप में लागत का 40 फीसदी राशि खर्च करना होता है।

सोलर संयंत्र से 45 लाख की सालाना आय कर सकते है

केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही पीएम कुसुम योजना किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल स्थापित करवाने पर सब्सिडी की सुविधा दी जाती है। किसान इस योजना के तहत आवेदन कर के सब्सिडी पर अपने बंजर खेतों में सोलर पैनल स्थापित कर सोलर पंप से फसलों की सिंचाई सही समय पर कर सकते है। और बेकार पड़ी बंजर जमीन को उपयोग में ले सकते हैं। किसान सब्सिडी पर सोलर पैनल लगाकर बिजली का उत्पादन कर सिंचाई के काम में ले सकते है। और उत्पादित अतिरिक्त बिजली को विधुत वितरण ग्रिड को बेचकर अतिरिक्त आय भी प्राप्त कर सकते है। किसान भाई यदि केंद्र सरकार की इस योजना के तहत 5 एकड के बंजर खेतों मे सोलर संयंत्र स्थापित करते है, तो इस संयंत्र से एक साल में करीब 15 लाख यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। जिससें किसान भाई अपने खेतों में फसलों की सिंचाई भी कर सकता है। और अतिरिक्त बिजली को बिजली विभाग को लगभग 3 रुपए 7 पैसे के टैरिफ से बेचकर 45 लाख रूपये सालाना की अतिरिक्त आय भी प्राप्त कर सकता है। इन सोलर पैनल की वैधता 25 साल तक मानी गई है और इनका रखरखवा भी आसान है।

पीएम कुसुम योजना का कैसे उठाएं लाभ

केंद्र सरकार की यह योजना पूरे देश में संचालित है। केंद्र की इस योजना के अंतर्गत देश की राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर पर इसे लागू करके किसानों को लाभ पहुंचाती है। लेकिन किसान जानकारी के अभाव में इस योजना का लाभ नहीं उठा पातें। ऐसे में किसानों को जागरूक करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर पर विशेष अभियान भी चलाती है। योजना के बारें में किसानों को अधिक से अधिक जागरूक किया जा सके इसके लिए राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर कृषि सम्मेलनों का आयोजन भी किया जाता है। इसके अलावा किसान इस योजना की अधिक जानकारी अपने जिला स्तर पर विद्युत विभाग एवं कृषि विभाग से संपर्क करके हासिल कर सकते है। एवं योजना की अधिकारिक वेबसाइट https://pmkusum.mnre.gov.in/landing.html  पर भी विजिट कर सकते है।

सतर्क रहें धोखाधड़ी से बचें

  • किसानों को अब सिंचाई संबंधित समस्या न हो इसके लिए केंद्र सरकार ने पीएम कुसुम योजना को शुरू किया।

  • पीएम कुसुम योजना के तहत किसानों को सोलर पंप स्थापित करवाने के लिए सब्सिडी दी जाती है।

  • इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ देश के सभी किसान उठा सकते है।

  • पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगाने में आने वाले खर्चे की कुल लागत पर 60 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है।

  • इस योजना में आवेदन केवल कृषि भूमि की सिंचाई के लिए है। 

  • योजना के तहत सोलर पंप स्थापना हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं, जिसमें भारत शासन व राज्य शासन द्वारा अनुदान दिया जाता है। 

  • इस योजना का लाभ एक परिवार में एक ही व्यक्ति को मिलेगा।  

  • सहकारी समितियां, पंचायत, किसानों का समूह, किसान उत्पादन संगठन एवं जल उपभोगता एसोसिएशन सोलर पंप संयंत्र की स्थापना के लिये आवेदन कर सकते हैं। 

  • कुसुम योजना आवेदन करने के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है।

  • इसके लिए आवेदक किसान को योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkusum.mnre.gov.in/landing.html  पर जाना होगा ।

  • आवेदन के लिए आधार कार्ड, पहचान पत्र, बैंक खाता पासबुक, भूमि के दस्तावेज, पासपोर्ट साइज फोटो, राशन कार्ड, पंजीकरण की कॉपी, ऑथोराइजेशन लेटर चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा जारी नेटवर्थ सर्टिफिकेट और मोबाइल नंबर जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। 

  • इसके अलावा आप अपने जिला स्तर पर कृषि विभाग एवं विद्युत विभाग से भी संपर्क कर आवेदन कर सकते हैं।

  • पीएम कुसुम योजना में आजकल धोखाधड़ी के कई मामले देखने को मिल रहे है। ऐसे कई फर्जी वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन है, जो आवेदकों से योजना के नाम पर सोलर पम्प लगाने हेतु ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने के साथ पंजीकरण शुल्क तथा पंप की कीमत का ऑनलाइन भुगतान करने को कह रहे हैं। इसके लिए सरकार ने किसानों से अपील करते हुए कहा है कि वे धोखाधड़ी करने वाली वेबसाइटों पर न जाएं तथा कोई भी भुगतान न करें। प्रधानमंत्री-कुसुम योजना को राज्य सरकार के विभागों द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।

पीमए कुसुम योजना के नाम पर फर्जी वेसाइट

केंद्र सरकार ने योजना की अधिकारी वेबसाइट पर कुछ फर्जी वेबसाइट का नाम उजागर किया है, जिनमें से ये वेबसाइट डोमेन नाम * -org] * -in] * -com  में पंजीकृत हैं। जैसे

(www-kusum yojana online-in-net) (www-pmkisankusumyojana-co-in) (www-onlinekusamyojana-org-in) (www-pmkisankusumyojana-com) (www-kusum yojana online-in-net) (www-pmkisankusumyojana-co-in) (www-onlinekusamyojana-org-in) (www-pmkisankusumyojana-com)

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह सोलिस ट्रैक्टर  व पॉवरट्रैक ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors