ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

कृषि क्लिनिक योजना : युवाओं को कृषि क्लिनिक खोलने के लिए सरकार देगी 2 लाख रुपए

कृषि क्लिनिक योजना : युवाओं को कृषि क्लिनिक खोलने के लिए सरकार देगी 2 लाख रुपए
पोस्ट -01 फ़रवरी 2024 शेयर पोस्ट

कृषि क्लिनिक खोलने के सरकार देगी 2 लाख रुपए की मदद, जानें पूरी योजना

कृषि क्लिनिक योजना : कृषि संबंधित विषयों पर पढ़ाई करने वाले युवाओं के बड़ी खुशखबरी है। राज्य सरकार युवओं को रोजगार अवसर देने एवं किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कई योजनाएँ चलाई जा रही है। इस बीच राज्य सरकार ने राज्य के सभी प्रखंडों में कृषि क्लिनिक खोलने का प्लान तैयार किया है। इसके तहत राज्य के सभी 534 प्रखंडों में कृषि क्लिनिक खोले जाएंगे। राज्य सरकार अभी इस योजना के पायलट प्रोजेक्ट के तहत अभी राज्य के 202 प्रखंडों में कृषि क्लिनिक खोलेगी, जो अप्रैल महीने से शुरू हो जाएँगे। इसके लिए राज्य कृषि विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। कृषि एवं संबंधित विषयों की पढ़ाई करने वाले युवाओं को कृषि क्लिनिक खोलने के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। योजना के तहत कृषि क्लिनिक की स्थापना के लिए कुल लागत लगभग 5 लाख रुपए की आयेगी, जिसपर युवाओं को राज्य सरकार द्वारा 2 लाख रुपए की मदद (सब्सिडी) दी जाएगी

New Holland Tractor

किसानों को मिलेगी ये सुविधाएं

उल्लेखनीये है की किसानों को उचित समय पर सही जानकारी नहीं मिलने से फसल में औसतन 30 प्रतिशत का नुकसान उठाना पड़ता है। लेकिन क्लिनिक खुलने से किसानों के खेतों में लगने वाले कीट रोगों का उचित समाधान उन्हें समय पर मिलेगा, जिससे किसानों को बड़ी राहत होगी। यदि खेतों में दवा के छिड़काव की जरूरत होगी तो एजेंसी के तहत तुरंत दवा का छिड़काव कराया जाएगा। राज्य कृषि विभाग का दावा है कि बिहार देश का पहला राज्य हैं जहां किसानों को इस तरह की सुविधा मिलेगी। कृषि क्लिनिक में किसानों को मिट्टी की जाँच, बीज विश्लेषण, कीट व व्याधि प्रबंधन संबंधित दवा छिड़काव की सुविधा मिलेगी, जिससे राज्य में फसलों उत्पादन, उत्पादकता और उत्पादन की गुणवत्ता में बढ़ोतरी हो सकेगी।

कृषि क्लिनिक के लिए इन योग्य युवाओं को मिलेगी अनुमति

राज्य सरकर ने इस योजना के लिए 4.24 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। कृषि क्लिनिक में सेवा के लिए उन युवाओं का चयन किया जाएगा, जो किसी मान्यता प्राप्त कृषि विश्वविद्यालय/ संस्थान/ केंद्रीय विश्वविद्यालय (कृषि संकाय) से संबंधित क्षेत्र में स्नातक की डिग्री रखते हैं। क्लिनिक के लिए कृषि स्नातक, कृषि व्यवसाय प्रबंधन स्नातक, किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कृषि या उद्यान में स्नातक, न्यूनतम 2 वर्षों का कृषि या उद्यान में अनुभव वाले डिप्लोमाधारी या कृषि विषय से इंटरमीडिएट तथा रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान में स्नातक की डिग्री रखने वाले योग्य युवाओं को कृषि क्लिनिक के लिए अनुमति मिलेगी।

कृषि क्लिनिक के मांगे गए आवेदन

बिहार सरकार राज्य के सभी 534 प्रखंडों में कृषि क्लिनिक खोलने जा रही है। अप्रैल महीने से योजना के पायलट प्रोजेक्ट के तहत 202 प्रखंडों में कृषि क्लिनिक खुलना शुरू हो जाएगा। कृषि विभाग द्वारा कृषि सहित इससे संबंधित विषयों पर पढ़ाई करने वाले राज्य के युवाओं से क्लिनिक खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। इसके तहत कृषि विभाग को इस वर्ष 101 अनुमंडलों में 202 कृषि क्लिनिक खोलने के लिए 646 आवेदन प्राप्त हुए हैं। सभी जिलों में डीएम की अध्यक्षता में गठित चयन समिति अंतिम रूप से 202 लाभार्थियों का चयन करेंगे। चयनित लाभार्थी को क्लिनिक की स्थापना के लिए राज्य सरकार की ओर से 2 लाख रुपए की सब्सिडी दी जाएगी । कृषि विभाग द्वारा जल्द ही योजना के तहत दूसरे चारण में क्लिनिक स्थापना के लिए आवेदन मांगे जाएंगे।

क्लिनिक की स्थापना के लिए चयनित लाभार्थियों को निःशुल्क प्रशिक्षण

बिहार सरकार योजना के तहत कृषि क्लिनिक की स्थापना के लिए चयनित लाभार्थियों को निःशुल्क प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करेगी। साथ ही चयनित लाभार्भियों की इच्छा के अनुसार उर्वरक, बीज, कीटनाशी लाइसेंस, कस्टम हायरिंग सेंटर सहित अन्य योजनाओं के लाभ में भी प्राथमिकता दी जाएगी। क्लिनिक से किसान खेतों में समय से कीटनाशकों का छिड़काव करा सकेंगे, जिसके लिए किसानों को 75 प्रतिशत की सब्सिडी मिलेगी। एक पेड़ में कीटनाशक छिड़काव के लिए 76 रुपए में 57 रुपए की सब्सिडी का प्रावधान है।

कीटनाशक छिड़काव के लिए यहां करें आवेदन

खेतों में कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए इच्छुक किसानों को बिहार कृषि विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। नए किसान कृषि विभाग के डीबीटी पोर्टल dbtagriculture.bihar.gov.in पर आधार कार्ड, जमीन का रकबा, फसल के प्रकार, जमीन की रसीद के साथ अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। वहीं, पोर्टल पर पहले से पंजीकृत किसान कीटनाशक छिड़काव का लाभ लेने के लिए कृषि विभाग, बिहार सरकार पौधा संरक्षण पोर्टल https://onlinedbtagriservice.bihar.gov.in/pp/index2.html#abc पर सीधे आवेदन कर सकते हैं। किसान ग्रुप में या क्लस्टर बनाकर भी छिड़काव करा सकते हैं। योजना के तहत किसान अपनी इच्छानुसार दवाओं का छिड़काव करा सकते हैं। कीटनाशक का पैकेट किसान के सामने ही खोला जाएगा।  विशेष जानकारी के लिए संबंधित जिलें के कृषि कार्यालय या सहायक निदेशक, पौधा संरक्षण कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर