सरकारी योजना समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

नाव सब्सिडी योजना : नाव चालकों और मछुआरों को मिलेगी 100 प्रतिशत सब्सिडी - जानें कैसे करें आवेदन

नाव सब्सिडी योजना : नाव चालकों और मछुआरों को मिलेगी 100 प्रतिशत सब्सिडी - जानें कैसे करें आवेदन
पोस्ट - June 23, 2022 शेयर पोस्ट

नाव खरीदने पर सरकार की ओर से मिलेगी सब्सिडी, निषादराज नाव सब्सिडी योजना शुरू 

चुनावों में भारी जीत के साथ दूसरी बार सत्ता में आने के बाद योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के नागरिकों के हित में कार्य करना शुरू कर दिया है। योगी सरकार द्वारा अपने वादों को पूरा करते हुए प्रदेश के ग्रामीण एवं शहरी नागरिकों के आर्थिक स्थिति एवं आय में वृद्धि के लिए कई प्रकार की योजनाओं को शुरू किया गया है। योगी सरकार ने इसी क्रम में निषादों, नाविकों और मछुआरा समुदाय से किए गए वादों को पूरा करने के लिए निषादराज नाव सब्सिडी योजना को लागू करने का ऐलान किया है। इस योजना के तहत प्रदेश सरकार मछुआरों को एक लाख रुपये तक की नाव खरीदने पर 40 प्रतिशत की सब्सिडी देगी। इसके अलावा राज्य के मछुआरों को मछली बीज उत्पादन यूनिट स्थापित करने पर 25 प्रतिशत सब्सिडी भी दी जाएगी। जिससे राज्य के मछुआरों के जीवन स्तर में सुधार होगा। साथ ही उनके आमदनी स्तर में भी सुधार मिलेगा। इस सब्सिडी का लाभ लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया जल्द शुरू हो रही, जिसपर फिलहाल में तेजी से काम चल रहा है। हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में 100 प्रतिशत सब्सिडी मिलने की बात भी कही जा रही है। ट्रैक्टरगुरू की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको योगी सरकार द्वारा मछुआरा समुदाय के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए निषादराज नाव सब्सिडी योजना को लागू करने की घोषणा से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने जा रहे है। तो आइए इस पोस्ट की मदद से जानते है कि इस नाव सब्सिडी योजना में निषादों, नाविकों और मछुआरों के लिए क्या खास है।  

New Holland Tractor

योजना के लिए 2 करोड़ रूपये की राशि का प्रावधान 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक निषादराज नाव सब्सिडी योजना को शुरू करने की घोषणा उत्तर प्रदेश सरकार के वित्त मंत्री द्वारा बजट 2022-23 को पेश करते हुए की गई थी। यूपी सरकार ने इस बजट में निषादों, नाविकों और मछुआरों के लिए शुरू निषादराज नाम सब्सिडी योजना के लिए 2 करोड़ रूपये की राशि का प्रावधान किया है। ये सब्सिडी मुख्य रूप से मछुआरा समुदाय की 17 उपजातियों के लिए है। इसमें निषाद, धीमरी, कश्यप, कहारी, कुम्हारी, केवट, मल्लाह, प्रजापति, धीवरो, राजभरी, माझी, बाथम, गोडिया, तुरहा जैसी जातियां शामिल है। नदियों के किनारे रहने वाली मछुआरों की एक बड़ी आबादी को इस योजना का लाभ होगा। राज्य सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से मछुआरों को प्रदान की जाने वाली सब्सिडी लाभ होगा। सरकार का कहना है कि इससे राज्य में मछली निर्यात को भी प्रोत्साहन मिलेगा। कुल मिलाकर यह योजना उन लोगों के लिए लाभकारी साबित होगी जिन्हें ग्राम सभाओं में तालाबों के लिए पट्टे दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के इन जिलों को मिलेगा निषाद नाव सब्सिडी योजना का लाभ

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस सब्सिडी में आवेदन करने की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। इस सब्सिडी योजना का लाभ निषाद समुदाय के उन लोगों को मिलेगा, जो मछली पकड़ते हैं या नाव चलाते हैं। इनके जीवन स्तर को सुधारने के लिए सरकार नाव खरीदने में इनकी मदद करेगी। इस योजना के तहत यदि कोई मछुआरा एक लाख रुपये में नाव खरीदता है, तो उसे 40 हजार रुपये की राशि सरकार की ओर से सब्सिडी के रूप में दी जाएगी। ऐसे में मछुआरे को 60 हजार में अपनी नाव मिल जाएगी। इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के वाराणसी, कानपुर, प्रयागराज, चित्रकूट और ऐसे अन्य जिलों में ऐसे मछुआरों को मिलेगा जो आजीविका के लिए नदियों पर निर्भर हैं। उनकी आजीविका को लेकर चिंतित सरकार उनके कल्याण के लिए लगातार प्रयास कर रही है। राज्य सरकार ने ऐसे समुदाए के लोगों के लिए इस योजना को शुरू करने पर काफी जोर देना शुरू कर दिया है। 

निषादराज नाव सब्सिडी योजना के लाभ/ विशेषताएं

  • यह योजना निषाद समुदाय के मछुआरा नाविकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के साथ-साथ उन्हें आत्मनिर्भर बनाएगी। 

  • निषादराज नाव सब्सिडी योजना के तहत, राज्य सरकार नाव और जाल खरीदने के लिए सब्सिडी प्रदान करेगी।

  • इस योजना के तहत निषाद समुदाय के नागरिकों को नाव की खरीद पर 40 प्रतिशत  की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

  • निषादराज नाव सब्सिडी योजना के तहत मछली बीज उत्पादन की यूनिट लगाने पर मछुआरों को 25 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

  • निषाद राज नाव सब्सिडी योजना के लिए बजट 2022-23 में दो करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

  • इस योजना का लाभ मछुआरा समुदाय के 17 उपजातियों को प्रदान किया जाएगा।

  • इस योजना के तहत ऐसे समुदाय को आगे बढ़ाया जाएगा, जो नावों के जरिए मछलियां पकड़कर बाजारों में बेचते हैं और उसी से अपनी आजीविका चला रहे हैं। लेकिन, आर्थिक तंगी की वजह से वह इसे सही तरह से अंजाम नहीं दे पाते हैं।

  • इस योजना के जरिये मछुआरा समुदाय के लोग अपनी आमदनी में सुधार कर सकेंगे। जिससे वह अपने बच्चों के लिए अच्छी शिक्षा की व्यवस्था कर पाएगे।

  • निषाद राज नाव सब्सिडी योजना का उद्देश्य नाविकों को उच्च जीवन स्तर जीने एवं आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

निषाद राज नाव सब्सिडी योजना के जरूरी डॉक्यूमेंट्स

निषाद राज नाव सब्सिडी योजना का लाभ निषादों, नाविकों एवं मछुआरा समुदाय के उन लोगों को मिलेगा, जो मछली पकड़ते हैं या नाव चलाते हैं। इनके जीवन स्तर को सुधारने के लिए सरकार नाव खरीदने में इनकी मदद करेगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड, बैंक खाता पास बुक, आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइल फोटो और मछली बीज उत्पादन यूनिट का प्रमाण पत्र आदि की जरूरत होगी। 

निषाद राज नाव सब्सिडी योजना के ये नागरिक होगे पात्र

  • निषाद राज नाव सब्सिडी योजना में केवल उत्तर प्रदेश राज्य के स्थाई निवासी ही कर सकते है।

  • आवेदक व्यक्ति निषाद, नाविक एवं मछुआरा समुदाय का होना चाहिए।

  • आवेदक व्यक्ति की न्यूनतम आयु 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए।

  • आवेदन 40 प्रतिशत या उससे अधिक अपंगता से ग्रस्त होने वाले विशेष योग्यजन इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते है।

  • आवेदक लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से कम और 60 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

  • इस योजना में केवल वही व्यक्ति आवेदन कर सकते है, जों नदियों से मछलियां पकड़कर बाजारों में बेचकर अपनी आजीविका चलाते है।

निषादराज नाव सब्सिडी योजना में ऐसे करें आवेदन

जानकारी के लिए बता दें कि निषादाराज नाव सब्सिडी योजना में आवेदन करने के लिए पात्र नागरिकों को अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा। क्योंकि राज्य सरकार द्वारा अभी इस योजना को लागू करने की घोषणा की गई है। राज्य सरकार द्वारा अभी इसकी आधिकारिक वेबसाइट को लॉन्च नहीं किया गया है। योजना के तहत  आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों ही माध्यम से लेने की तैयारी सरकार कर रही है। जल्द ही राज्य सरकार इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट लांच करेगी। जैसे ही सरकार द्वारा इस योजना के तहत आवेदन के लिए अधिकारिक वेबसाइट को लांच किया जाएगा तो हम आपको ट्रैक्टगुरू के इस पोस्ट के माध्यम से सूचित कर देंगे। 

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह कुबोटा ट्रैक्टर  व महिंद्रा ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री से जुड़े सभी अपडेट जानने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें - https://bit.ly/3yjB9Pm

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors