सरकारी योजना समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

कृषि यंत्र सब्सिडी : किसानों को अब 90 प्रकार के कृषि यंत्रों पर 80% तक अनुदान, जानें पूरी जानकारी

कृषि यंत्र सब्सिडी : किसानों को अब 90 प्रकार के कृषि यंत्रों पर 80% तक अनुदान, जानें पूरी जानकारी
पोस्ट - July 15, 2022 शेयर पोस्ट

नियमों में बदलाव : महंगे कृषि यंत्र खरीदने के लिए किसानों को मिलेगी 40 से 80 प्रतिशत सब्सिडी

देश में मानसून सक्रिय है। देश के लगभग सभी हिस्सों में बारिश का दौर जारी है। खरीफ फसलों की बुवाई में तेजी देखने को मिल रही है। कई राज्यों के किसानों ने खरीफ फसलों की बुवाई शुरू कर दी है। कई राज्यों में किसानों ने खरीफ फसलों की बुवाई पहले कर ली है। इन फसलों में किसान अब निराई-गुडाई कर रहे हैं। ऐसे में किसानों को कृषि यंत्रों की आवश्यकता होती है। किसानों को सब्सिडी पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए सरकार की ओर से कृषि यंत्र अनुदान योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत किसानों को कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है ताकि किसानों को सस्ते में कृषि यंत्र उपलब्ध हो सकें। इस योजना के तहत किसानों को करीब 90 प्रकार के कृषि यंत्रों पर 40 से 80 प्रतिशत तक सब्सिडी यानि अनुदान दिया जा रहा है। जानकारी के लिए बता दें कि पहले यह अनुदान राशि सिर्फ 10 प्रकार के कृषि यंत्रों दी जाती थी, लेकिन सरकार ने अब इस योजना में किसानों को 90 प्रकार के कृषि यंत्रों पर अनुदान देने का फैसला किया है। 90 प्रकार के इन कृषि यंत्रों पर सब्सिडी लाभ फिलहाल बिहार के किशनगंज जिले के किसानों को मिल रहा है। कृषि यंत्रों पर सब्सिडी लेने के लिए जिले इच्छुक किसान अपने निकटतम कृषि विभाग या उद्यानकी विभाग से संपर्क करके योजना का लाभ उठा सकते हैं। तो आइए  ट्रैक्टर गुरू के इस लेख के माध्यम से कृषि यंत्र अनुदान योजना बिहार के तहत दी जाने वाली सब्सिडी एवं कृषि यंत्रों के प्रकार के बारे में जानते हैं।

New Holland Tractor

किसानों को कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी देने का उद्देश्य 

वर्तमान समय में खेती-बड़ी के कृषि कार्यों हेतु कृषि यंत्रों की बहुत आवश्यकता होती है। इन कृषि यंत्रों के प्रयोग से पहले के मुकाबले खेती-बाड़ी में कृषि कार्य करना बेहद आसान हो गया हैं। इन आधुनिक कृषि यंत्रों की मदद से बेहद कम समय और कम लागत में कृषि कार्य पूर्ण कर लिया जाता है। लेकिन ये आधुनिक कृषि यंत्र बेहद महंगे आते हैं। जिसे खरीदना हर किसान के बस में नहीं होता है। खेती-बाड़ी के कृषि कार्य को करने के लिए इन कृषि यंत्रों की पहुंच सभी किसानों तक हो इसके लिए बिहार सरकार ने कृषि यंत्रीकरण योजना को शुरू किया। इस योजना के तहत किसानों को कृषि यंत्र खरीद पर 40 से 80 प्रतिशत तक सब्सिडी का लाभ दिया जा रहा है। बिहार सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी देने का मुख्य उद्देश्य यह है कि राज्य के हर किसान खेती-बड़ी के कृषि कार्यं में इन कृषि यंत्र को खरीद कर इस्तमाल कर सकें। इस योजना के तहत राज्य के किसान बिना किसी आर्थिक परेशानी के इन कृषि उपकरणों की खरीद कर सकते हैं। 

इन कृषि यंत्रों पर दी जाएगी सब्सिडी

किसानों को आधुनिक ढर्रे पर लाने के साथ-साथ कृषि कार्यों को आसान बनाने के लिए सरकार ने इस वर्ष 20 नए यंत्रों को कृषि यंत्रीकरण में शामिल किया है। इससे अब किसानों को 90 तरह के यंत्रों पर अनुदान राशि दी जाएगी। पहले यह अनुदान केवल 10 कृषि यंत्रों पर दिया जाता था। राज्य सरकार किसानों को ट्रैक्टर (अधिकतम 70 एच.पी.), पैडी ट्रांसप्लांटर, रोटावेटर, रोटरी टीलर, पॉवर टिलर (15 एच.पी. 8.71 एच.पी. तक), लेजर लैंड लेवलर, कल्टीवेटर, डिस्क हैरो, रोटो कल्टीवेटर, सब सायलर, रीपर, रीपर बाइंडर, थ्रेशर, जीरो टिलेज/सीड कम फर्टिलाईजर ड्रिल/मल्टी क्रम प्लांटर, हैपी सीडर, पोटैटो प्लांटर, रेज्ड वेड प्लांटर, सुगरकेन कटर कम प्लांटर, पावर वीडर, स्ट्रा वेलर विदाउट रैक, स्ट्रा रीपर/ स्ट्रा कम्बाईन, मखाना पापिंग मशीन, पैडी थ्रेसर (मैनुअल), पावर आपरेटेड/ मेज थ्रेसर सहित कई अन्य यंत्रों सहित  लगभग 90 तरह के कृषि यंत्रों पर सब्सिडी प्रदान करेगी।

सरकार ने एक करोड़ 48 लाख रूपये की राशि को दी मंजूरी

बिहार सरकार ने राज्य के किशनगढ़ जिले के किसानों की आवश्यकता को देखते हुए इस साल 20 नए यंत्रों को कृषि यंत्रीकरण में शामिल किया है। इससे अब किशनगढ़ जिले के किसानों को 90 तरह के यंत्रों पर अनुदान का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए सरकार ने इस वर्ष जिले को 1 करोड़ 48 लाख रूपये तक की अनुदान राशि उपलब्ध कराई है। जबकि पिछले साल ये राशि 21 लाख रुपए तक थी। सरकार ने कहा कि जिले में विभिन्न कृषि यंत्रों को खरीदने के लिए अनुदान की राशि 40 से लेकर 80 प्रतिशत तक होगी। जानकारी के लिए बता दें कि कृषि रोड मैप योजना के तहत सरकार ने जिस 90 प्रकार के यंत्रों को शामिल किया है उस पर किसानों को 50 से 60 फीसद तक अनुदान देने का प्रवाधान है। 

हालांकि सरकार ने इस बार अनुदान राशि में भी बदलाव किया है। कुछ कृषि यंत्रों पर अनुदान दर में कमी तो कुछ विशिष्ट कृषि यंत्रों के अनुदान दर में वृद्धि भी की गई है। इसके अलावा यंत्रों की खरीद पर किसानों को मिलने वाली अनुदान राशि के प्राविधान में भी कुछ बदलाव किए गए हैं। 10 हजार रुपये अनुदान तक के कृषि यंत्रों की खरीद पर किसानों को अब अनुदान राशि काटकर भुगतान करना होगा। अब कृषि यंत्रों की राशि सीधे निर्माता कंपनी के पास जाएगी। जिससे बिचौलिया व कालाबाजारी से किसान बच सकेंगे। साथ ही किसान भाइयों को अपना ब्यौरा व अन्य जरूरी कागजात के साथ खरीदने गए कृषि यंत्रों की पूरी जानकारी देनी होगी।

3 श्रेणी में बाटे गए यंत्र 

बिहार सरकार ने राज्य में लघु एवं सीमांत किसानों की सहूलियत के लिए कृषि यंत्रों को तीन श्रेणियों में बांटा है। जिसमें फसल अवशेष प्रबंधन के तहत कम से कम 30 संयंत्रों को शामिल किया गया है और साथ ही कटाई व बागवानी के लिए इस्तेमाल होने वाले 10 मशीनों को व पंप सेट के साथ अन्य कई कैटेगरी के लिए 50 यंत्रों को शामिल किया गया है। कृषि विभाग का कहना है कि कृषि यांत्रीकरण के उपयोग से लघु एवं सीमांत किसानों को काफी सहूलियत होगी। किसान को यंत्र के इस्तेमाल से फसलों के उत्पादन लागत में कमी आएगी तथा उत्पादन की गुणवत्ता भी बढ़ेगी।

कटाई व बागवानी कृषि यंत्रों पर 40 लाख रूपए का अनुदान

कृषि यंत्रीकरण योजना के तहत बिहार सरकार द्वारा किशनगढ़ जिले के किसानों को कटाई व बागवानी खेत में इस्तेमाल होने वाले कृषि यंत्रों पर कम से कम 40 लाख रुपए तक अनुदान की राशि दी जाएगी। जिले में बागवानी की खेती में मुख्य चाय पत्ती व अनानास की खेती है। इस खेती में उपयुक्त होने वाले कृषि यंत्रों का इस्तेमाल करके किसान आधुनिक बनता जा रहा है, इसलिए सरकार भी इन बागवानी खेती को बढ़ावा देने के लिए इनके यंत्रों पर अधिक अनुदान की राशि उपलब्ध करवा रही है।

कृषि यंत्र खरीद पर सब्सिडी के लिए व्यक्तिगत जारूरी डॉक्यूमेन्ट्स 

इच्छुक आवेदक किसान का परिवार पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक खाते का विवरण, बुकिंग (टोकन मनी) राशि एवं जमीन का विवरण, अनुसूचित जाति से संबंधित किसानों के लिए जाति प्रमाण-पत्र एवं मोबाइल नम्बर जो आधार कार्ड और बैक खाते में लिंक हो। 

कृषि यंत्र पर सब्सिडी हेतु कहां करें आवेदन

बिहार राज्य के किशनगढ़ जिले के इच्छुक किसानों को कृषि यंत्र सब्सिडी योजना के माध्यम से यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन करने के लिए आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर जाना होगा। लेकिन ऑनलाइन आवेदन के लिए पहले आपको कृषि विभाग के प्रत्यक्ष लाभ अंतरण डीबीटी पर पंजीकरण करवा के पंजीकरण संख्या प्राप्त करनी होगी। उसके बाद आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। योजना की विस्तृत दिशा-निर्देश एवं अन्य शर्ते विभाग की वेबसाइट https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर उपलब्ध है तथा अधिक जानकारी के लिए उपनिदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग किशनगढ़ व सहायक कृषि अभियन्ता किशनगढ़ कार्यालय के दूरभाषा नंबर 1800-180-1551 पर संपर्क कर सकते हैं।

इस मोबाइल ऐप पर घर बैठे किसानों को मिलेगी कृषि यंत्र पर सब्सिडी की जानकारी 

जानकारी के लिए बता दें हाल ही में भारत सरकार के कृषि मंत्रालय ने फार्म मशीनरी सॉल्यूशंस नाम का एक मोबाईल ऐप लॉन्च किया है। इस मोबाइल ऐप के माध्यम से किसान खेती-किसानी से जुड़ी तमाम नई जानकारियां एवं खेती-किसानी के लिए आधुनिक कृषि यंत्र जैसे- ट्रैक्टर, टिलर, रोटावेटर सहित कृषि में उपयोग होने वाली तमाम मशीनरी पर उपलब्ध सब्सिडी की जानकारी घर बैठे ले सकते हैं। इस मोबाइल ऐप की मदद से किसान खेती के लिए इन कृषि यंत्रों को घर बैठे ऑनलाइन बुकिंग कर किराए पर मंगवा सकते। और जो किसान इन मशीनों को खरीदने में सक्षम है वह इन्हें खरीद भी सकते है। इस ऐप पर किसान अपना रजिस्ट्रेशन दो तरह से कर सकते है। पहला यदि आप कृषि यंत्र किराए पर लेना चाहते हैं, तो यूजर श्रेणी में रजिस्ट्रेशन करना होगा। और यदि अगर मशीनरी किराए पर देना चाहते हैं, तो सर्विस प्रोवाइडर की श्रेणी में जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।   

ट्रैक्टर इंडस्ट्री से जुड़े सभी अपडेट जानने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें - https://bit.ly/3yjB9Pm

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors