सरकारी योजना समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

खुशखबरी : गन्ना उत्पादक किसानों को बोनस, गन्ना पेराई सत्र 2022-23 का हुआ शुभारंभ

खुशखबरी : गन्ना उत्पादक किसानों को बोनस, गन्ना पेराई सत्र 2022-23 का हुआ शुभारंभ
पोस्ट - November 04, 2022 शेयर पोस्ट

सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने प्रदेश में विधिवत पूजा-पाठ कर गन्ना पेराई का शुभारंभ किया

छत्तीसगढ़ सरकार किसानों को कृषि क्षेत्र में हर मुमकिन सहूलियत देने का प्रयास कर रही है। किसानों को खेती से पर्याप्त लाभ मिले इसके लिए सरकार राज्य में एमएसपी पर उत्पादन खरीदना, खाद बीज पर सब्सिडी देना, उपज बेचने के लिए समुचित बाजार की व्यवस्था करना और किसानों को बकाया राशि का भुगतान करने जैसी तमाम तरह की सहूलियत दे रही है। इसी कड़ी में राज्य के अंदर गन्ना पेराई सत्र 2022-23 का शुभारंभ हो गया है। राज्य के सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने सुरजपुर जिले के विकासखण्ड प्रतापपुर के ग्राम केरता स्थित मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना में विधिवत पूजा-पाठ कर गन्ना पेराई सत्र 2022-23 का शुभारंभ किया। इस दौरान सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने मौके पर मौजूद किसानों का अभिनंदन कर चीनी मिल को पूर्ण सहयोग देने के साथ साफ-सथुरा, स्वस्थ एवं ताजा गन्ना की आपूर्ति चीनी मिल में करने की अपील की। किसानों से कहा कि शरदकालीन गन्ना बुआई के अंतर्गत अधिक से अधिक क्षेत्रफल में उन्नतशील गन्ना प्रजातियों की बुआई कर चीनी मिल द्वारा दी जा रही सुविधाओं का लाभ उठाए, ताकि क्षेत्र खुशहाली के पथ पर अग्रसर रहे। चीनी मिल को भी पेराई क्षमता के अनुरूप गन्ना की आपूर्ति सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए वैकल्पिक कृषि को अपनाने की आवश्यकता है। शक्कर कारखाना में गन्ना की आपूर्ति के लिए किसान बड़ी संख्या में अपने खेत में इसका उत्पाद कर लाभ उठा सकते हैं।

New Holland Tractor

गन्ना उत्पादक किसानों को भी मिलेगा बोनस

सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने इस अवसर पर किसानों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कारखाना स्थापना से क्षेत्र के गन्ना उत्पादक कृषकों के जीवन स्तर में सुधार आया है। पेराई सत्र एवं मरम्मत कार्य के दौरान प्रति दिवस आस-पास के गांवों के लगभग 300 से 400 बेरोजगार मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। कारखाने में 20 केएलपीडी ईथेनॉल प्लांट स्थापना के लिए पुणे की बसंत दादा शर्करा संस्थान से डीपीआर तैयार कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने किसानों को लाभान्वित करने बोनस राशि देना स्वीकृत किया है। यहां के गन्ना उत्पादक किसानों को भी बोनस राशि मिलेगी। उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए वैकल्पिक कृषि को अपनाने की आवश्यकता है। शक्कर कारखाना में गन्ना की आपूर्ति के लिए किसान बड़ी संख्या में अपने खेत में इसका उत्पाद कर लाभ उठा सकते हैं।

गन्ना पेराई सत्र 2022-23 में 4 लाख मीट्रिक टन गन्ना पेराई का लक्ष्य

मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया कि इस वर्ष गन्ना की फसल स्वस्थ एवं अधिकतम उत्पादन के साथ किसान भाईयो के लिए बेहद लाभप्रद सिद्ध होगी। गन्ना पेराई का प्रारम्भ पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी समय पर हो रहा है। उन्होंने बताया कि गन्ना पेराई सत्र 2022-23 में जिला सरगुजा, सूरजपुर एवं बलरामपुर के 16 विकाखखण्डों से गन्ना रकबा 10,958.782 हेक्टेयर से 17,240 पंजीकृत कृषकों को 4 लाख मीट्रिक टन गन्ना पेराई करने का लक्ष्य रखा गया है। केंद्र सरकार द्वारा इस वर्ष गन्ने का समर्थन मूल्य रिकवरी 9.50 प्रतिशत पर निर्धारित 282. 125 रुपए प्रति क्विंटल भुगतान किया जाएगा। साथ ही रिकवरी 9.5 प्रतिशत से अधिक होने पर 1 प्रतिशत पर 3.05 प्रति क्विंटल प्रति क्विंटल अतिरिक्त गन्ना मूल्य भुगतान किया जाएगा। किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान तुरंत किया जाएगा। गन्ना गिराने के 14 से 15 दिनों के भीतर भुगतान करने का प्रयास किया जाएगा। वहीं पेराई भी बिना किसी रूकावट के निरंतर की जाएगी। 

सिंक्रोनाइजेशन पैनल का निर्माण कार्य 90 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है

मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि इस दौरान कहा कि कारखाने में 20 केएलपीडी ईथेनॉल प्लांट स्थापना के लिए पुणे की बसंत दादा शर्करा संस्थान से डीपीआर तैयार कराया जा चुका है। सरकार द्वारा इसका प्रस्ताव स्वीकृत किया गया है, जिससे संस्था को अतिरिक्त आय होगी। मंत्री डॉ. टेकाम अपने बयान में आगे कहा कि कारखाने में 6 मेगावाट टरबाइन स्थापित है, जिसमें से 3.5-4 मेगावाट का पेराई सीजन के दौरान विद्युत का उपयोग किया जाता है। वहीं, शेष 2-2.5 मेगावाट विद्युत विक्रय के लिए आवश्यक एग्जिट इन्फ्रास्ट्रक्चर के अंतर्गत स्विचयार्ड, सिंक्रोनाइजेशन पैनल का निर्माण का 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने किसानों को बधाई देते हुए कहा कि सरकार किसानों के हित में निरंतर प्रयास कर रही है। 

5 हजार मीट्रिक टन मोलासिस टैंक किया जा रहा है निर्माण

मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि पूर्व वर्षों की भांति इस वर्ष का पेराई सीजन सभी के सहयोग से अनवरत एवं बहुत अच्छे से संपादित हो। उन्होंने सभी गन्ना उत्पादक किसानों एवं कारखाने से संबद्ध समस्त इंजीनियर तथा कर्मचारी साथियों को शुभकामनाएं दी। उनहोंने कहा कि नवंबर माह के अंतिम सप्ताह में यह कार्य प्रारंभ हो जाएगा। कारखाने में 20 हजार मीट्रिक टन का नवीन स्थायी शक्कर गोदाम निर्माण एवं 5 हजार मीट्रिक टन मोलासिस टैंक निर्माण किया जा रहा है। शक्कर गोदाम का निर्माण कार्य लगभग 60 प्रतिशत और मोलासिस टैंक निर्माण कार्य लगभग 50 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। 

बड़ी संख्या में उपस्थिति थे किसान एवं ग्रामीण जन

इस अवसर पर जिला कलेक्टर सुश्री इफ्फत आरा ने कहा कि गन्ना पेराई प्रारंभ होने से तीनों जिले सूरजपुर, सरगुजा, बलरामपुर के किसानों को लाभ मिलेगा। केरता स्थित मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना के अध्यक्ष विद्यासागर सिंह एवं उपाध्यक्ष जितेंद्र दुबे ने किसानों को सही समय पर गन्ना विक्रय करने के लिए आग्रह किया जिससे किसानों के गन्ने की समय पर खरीदी की जा सके। इस मौके पर श्री कुमार सिंहदेव, मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना के महाप्रबंधक, प्रबंध संचालक, संचालक मंडल के सदस्य, अधिकारी-कर्मचारी और काफी संख्या में स्थानीय ग्रामीण जन तथा किसान उपस्थित थे।
 
ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह पॉवरट्रैक ट्रैक्टर व सोनालिका ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री से जुड़े सभी अपडेट जानने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें - https://bit.ly/3yjB9Pm

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors