ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

सरकारी योजनाएं - किसान शुरु करें अपना कृषि बिजनेस, सरकार से मिलेगी 15 लाख की मदद

सरकारी योजनाएं - किसान शुरु करें अपना कृषि बिजनेस, सरकार से मिलेगी 15 लाख की मदद
पोस्ट -30 दिसम्बर 2022 शेयर पोस्ट

नए साल में किसान शुरु करें अपना कृषि बिजनेस, सरकार करेंगी मदद  

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना (Prime Minister Kisan FPO Scheme) : केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों को नए साल से पहले बड़ा तोहफा दिया हैं। केंद्र की मोदी सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए एक बार फिर से बड़ा कदम उठाया है। दरअलस, नए साल से पहले केंद्र सरकार प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना के अंर्तगत किसानों को नया कृषि से जुड़ा बिजनेस शुरू करने के लिए 15 लाख  रुपये तक दे रही है। (पीएमकेएफपीओवाई) के माध्यम से यह राशि किसानों को सिर्फ कृषि से जुड़े बिजनेस शुरु करने के लिए दी जा रही है। इसमें 11 किसानों को मिलकर एक कंपनी बनानी होती है, जिसके बाद 15 लाख रुपये तक का लाभ मिल सकता है। इस पैसे को किसानों को कृषि बिजनेस शुरू करने के लिए दिया जाता है। इसमें किसान कृषि से जुड़े उपकरण, बीज आदि खरीद सकते हैं। और अपने कर्ज से भी मुक्त हो सकते है। योजना के तहत कृषि बिजनेस शुरू किसानों अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बना सकते है। ऐसे में आप कृषि से अच्छा लाभ हासिल करना चाहते है, तो केंद्र सरकार पीएम किसान एफपीओ योजना में आवेदन कर कृषि से जुड़ा व्यवसाय स्थापित कर सकते है। और ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को एक अच्छा रोजगार उपलब्ध भी करवा सकते है। आइए ट्रैक्टरगुरु के इस लेख में जानते है कि कैसे पीएम किसान एफपीओ योजना में आवेदन करना है और किसी प्रकार योजना का लाभ मिलेंगा इसके लिए सरकार ने क्या प्रावधान किया है। 

New Holland Tractor

पीएम किसान एफपीओ योजना को लाने का उद्देश्य

किसानों को कृषि से बेहतर जीविका साधन मिलें साथ ही उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार हो इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से पीएम किसान एफपीओ योजना चलाई जा रही है। यह एक प्रकार की वित्तीय सहायता योजना हैं। इस योजना मे माध्यम से किसान, किसान समूहों एवं किसान उत्पादक संगठन (FPO) को कृषि से जुड़े व्यवसाय (Business) शुरू करने के लिए 15-15 लाख रूपये की वित्तीय सहायता दी जाती है। सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि सेक्टर को आगे बढ़कर किसानो की आय में वृद्धि करना एवं किसानो के हित में कार्य करना। 

साल 2025 तक देश में 10,000 नए एफपीओं बनाया का लक्ष्य

बता दें बीते दिनों केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की बैठक में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पीएम किसान एफपीओं योजना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार इस योजना को देश के छोटे और सीमांत किसानों की आय बढ़ाने के चला रही है। यह एक प्रकार का किसान उत्पादक संगठन है, जो किसानों के हित में कार्य करता है और कंपनी एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर्ड होता है। पीएम किसान एफपीओं योजना के अंतर्गत ऐसे संगठनों को बढ़ावा दिया जाएगा। किसानों को खेती-बाड़ी से अच्छा लाभ मिल सके इसके लिए सरकार ने देशभर में 2025 तक करीब 10 हजार नए एफपीओ बनाने का लक्ष्य रखा है, जिसके लिए केंद्र सरकार ने 6865 करोड़ रुपए आवंटित भी किए गए हैं।

यह भी जानें - सरकारी योजना की नवीनतम अपडेट के लिए यहाँ पर क्लिक करें

किसानों को बनानी होगी कृषि कंपनी 

पीएम किसान एफपीओं योजना के माध्यम से फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठनों) को कृषि बिजनेस शुरु करने के लिए 15 लाख रुपए तक सरकार देती है। इसमें कम से कम 11 किसानों को संगठित होकर अपनी कृषि कंपनी बनानी होगी। किसानों द्वारा गठित संगठनों या कंपनी को सरकार द्वारा वह सभी फायदे प्रदान किए जाएंगे जो एक कंपनी को प्रदान किए जाते हैं। इन एफपीओ से छोटे और सीमांत किसानों को जोड़ा जा रहा हैं। पीएम किसान एफपीओ योजना के माध्यम से फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठनों) को दी जाने वाली यह राशि तीन सालों में दी जाएगी। अब देश के किसान को खेती में भी कारोबार की तरह लाभ मिलेगा। खेती से जुड़े कामकाज करने में कोई परेशानी नहीं आएगी तथा खरीदी भी आसानी से कर पाएंगे। इससे  खेती-बाड़ी से अच्छा खासा लाभ भी कमाया जा सकता हैं।

पीएम किसान एफपीओ स्कीम के महत्वपूर्ण तथ्य

  • केंद्र सरकार की ओर से चलाई जा रही पीएम किसान एफपीओ को फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठन) के नाम से भी जाना जाता है। 
  • यह एक प्रकार का किसान उत्पादक संगठन है, जो किसानों के हित में कार्य करता है और कंपनी एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर्ड होता है। 
  • पीएम किसान एफपीओं योजना के अंतर्गत ऐसे संगठनों को बढ़ावा दिया जाएगा, जो खेती से जुड़े व्यापार करते है। 
  • इस योजना के माध्यम से संगठनों को कृषि से जुड़े व्यवसाय को शुरू करने के लिए 15 लाख रुपए की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा यह धनराशि तीन साल के भीतर प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ देशभर के किसानों को दिया जायेगा।
  • योजना के माध्यम से किसानों को तकनीकी, मार्केटिंग, ऋण, प्रोसेसिंग, सिंचाई आदि जैसी सुविधाएं प्रदान की जाती है। 
  • फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठनों) को इंडियन कंपनीज एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर करवाया जा सकता है।
  • इस संगठन के माध्यम से किसानों को बीज, खाद, मशीनरी, मार्केट लिंकेज, ट्रेनिंग, नेटवर्किंग, वित्तीय सहायता आदि जैसी सुविधाएं भी दी जाती है।
  • फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन के माध्यम से पर्याप्त प्रशिक्षण और हैंड हैंडलिंग प्रदान की जाती है इसके अलावा सीबीओ के स्तर से प्राथमिक प्रशिक्षण भी दिया जाता है।
  • नॉर्थईस्ट एवं पहाड़ी इलाकों में एक एफपीओ में कम से कम 100 सदस्य होने चाहिए और मैदानी इलाकों में एक एफपीओ में कम से कम 300 सदस्य होने चाहिए। 
  • पीएम किसान एफपीओं योजना के माध्यम से किसानों को एफपीओ के लिए दी जाने वाली धनराशि नकद दी जाती है।

फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (एफपीओ) डॉक्यूमेंट्स

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर आधार कार्ड एवं बैंक से लिंक 
  • भूमि के कागजात
  • परिवार राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र

आवेदन करने के लिए प्रक्रिया

  • किसान उत्पादक संगठन (FPO) योजना  में आवेदन करने के लिए सबसे पहले राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट https://www.enam.gov.in/web/  पर जाना होगा। 
  • अब आपके सामने ’राष्ट्रीय कृषि बाजार’ (ई-नाम) का होम पेज खुल जाएगा।  
  • इस होम पेज पर किसान को फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (एफपीओ) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।  
  • इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। इसमें मांगी गई सभी जानकारी को भरना होगा। 
  • इसके पश्चात बैंक पासबुक या फिर कैंसिल चेक एवं आईडी प्रूफ को स्कैन करके अपलोड करना होगा। 
  • इसके बाद सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर रजिस्ट्रेशन फॉर्म को सबमिट करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म को सबमिट करते ही रजिस्टर्ड नंबर पर एसएमएस के माध्यम से यूजर आईडी पासवर्ड मिल जाएगा। अब आप पीएम किसान एफपीओ योजना में आवेदन कर सकते है। 

पीएम किसान एफपीओ स्कीम  FAQ

Que.1 किसान एफपीओ क्या हैं?

Ans. केंद्र सरकार की ओर से चलाई जा रही पीएम किसान एफपीओ को फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठन) के नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रकार का किसान उत्पादक संगठन है, जो किसानों के हित में कार्य करता है और कंपनी एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर्ड होता है। 

Que.2 कौन बना सकता है किसान उत्पादक संगठन?

Ans. पीएम किसान एफपीओं योजना के माध्यम से फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन (किसान उत्पादक संगठन) को कृषि बिजनेस शुरु करने के लिए 15 लाख रुपए तक सरकार देती है। इसमें कम से कम 11 किसानों को संगठित होकर अपनी कृषि कंपनी बनानी होगी। 

Que.3 किसान एफपीओं में कितने सदस्य होने चाहिए?

Ans. नॉर्थईस्ट एवं पहाड़ी इलाकों में एक एफपीओ में कम से कम 100 सदस्य होने चाहिए और मैदानी इलाकों में एक एफपीओ में कम से कम 300 सदस्य होने चाहिए। 

Que.4 एफपीओ से क्या लाभ हैं?

Ans. इस संगठन के माध्यम से किसानों को बीज, खाद, मशीनरी, मार्केट लिंकेज, ट्रेनिंग, नेटवर्किंग, वित्तीय सहायता आदि जैसी सुविधाएं भी दी जाती है। फॉर्मर्स प्रोडयूसर ऑर्गेनाइजेशन के माध्यम से पर्याप्त प्रशिक्षण और हैंड हैंडलिंग प्रदान की जाती है इसके अलावा सीबीओ के स्तर से प्राथमिक प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह पॉवरट्रैक ट्रैक्टर  व वीएसटी ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors