सरकारी योजना समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

बीज सब्सिडी योजना - 54 लाख महिला किसानों को नि:शुल्क बीज वितरण

बीज सब्सिडी योजना - 54 लाख महिला किसानों को नि:शुल्क बीज वितरण
पोस्ट -10 दिसम्बर 2022 शेयर पोस्ट

बीज अनुदान योजना - जानें, कैसे मिलेंगे महिला किसानों को निःशुल्क बीज

कृषि क्षेत्र में किसानों आय बढ़ाने के लिए सरकार कई तरह के प्रयास कर रही है। ताकि खेती-किसानी में लागत कम लगे और किसानों को बेहतर पैदावार मिल सके। इसके लिए सरकार कई प्रकार की योजनाएं भी चला रही है। इन योजना के माध्यम से किसानों को आर्थिक संबल बनाने का प्रयास किया जा रहा है। जिसके परिणाम स्वरुप आज के दौर में खेती-किसानी सिर्फ पुरुष किसानों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि इस क्षेत्र में महिलाएं भी अपना पूर्ण योगदान दे रही है। वर्तमान समय में कृषि के क्षेत्र में महिलाएं बुवाई से लेकर कटाई तक अहम भूमिका निभा रही है। इन्हीं सब को देखते हुए राजस्थान सरकार कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के साथ उन्हें सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत राजस्थान मिलेट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन एवं वितरण जैसे कई मिशनों का संचालन कर रही है। सरकार इन मिशनों के माध्यम से राज्य में महिलाओं को मूंग, मोठ, उड़द, सरसों, ज्वार, जई, बाजरा जैसी कई अन्य प्रकार की फसलों के निःशुल्क बीज के मिनीकिट वितरण किए जा रहे हैं। जिससे न केवल कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी, बल्कि राज्य और देश की अर्थव्यवस्था में भी उनका योगदान बढ़ेगा। आइए ट्रैक्टरगुरु के इस लेख के माध्यम से निःशुल्क बीज वितरण राजस्थान योजना की पूरी जानकारी के बारे में जानते है।

New Holland Tractor

54 लाख से अधिक महिला किसान हुई लाभान्वित

राजस्थान सरकार की ओर से कृषि में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत राजस्थान मिलिट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन और वितरण जैसे कार्यक्रम के जरिए महिलाओं को निःशुल्क बीज के मिनीकिट वितरित किए गए है। राजस्थान सरकार की ओर से चलाई जा रही इस योजना के तहत पिछले 4 साल में राज्य की 54 लाख 30, 781 महिला किसानों को बीजों की निःशुल्क मिनी किट वितरित की गई है। इस मिनीकिट बीज वितरण से जहां महिलाओं को आर्थिक संबल हुई, तो वहीं, इससे बंजर पड़े खेतों को दोबारा हरा-भरा बनाने में भी मदद मिली है। राज्य सरकार के आंकड़ो पर नजर डाला जाए, तो साल 2022-23 में करीब 26.07 लाख महिला किसानों को बीजों की मिनीकिट निःशुल्क् वितरित की गई, जिसमें सरसों, बाजरा, मक्का, मसूर, अलसी और मोठ के बीज शामिल हैं।

इन फसलों के बीजों के मिनीकिटों का निःशुल्क वितरण

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजस्थान कृषि आयुक्त श्री कानाराम का कहना है सरकार मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा वर्ष 2022-23 में अब तक 26 लाख 6 हजार 977 महिला किसानों को निःशुल्क बीज मिनी किट वितरण की गई है। इसमें सरसों की 2 एवं 3 किलोग्राम की 8 लाख 11 हजार 52, बाजरा की 1.5 किलोग्राम की 8 लाख 60 हजार 610, मक्का की 5 किलोग्राम की 7 लाख 95 हजार 774, मसूर की 8 किलोग्राम की 22 हजार 475, अलसी की 2 किलोग्राम की 4 हजार 144, मोठ की 4 किलोग्राम की 26 हजार 315 मिनीकिट वितरित की गई है।

खरीफ चारे के लिए 26 हजार 725 मिनीकिट का हुआ वितरण

राजस्थान कृषि आयुक्त श्री कानाराम ने बताया कि मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत राजस्थान मिलेट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन एवं वितरण जैसे कई मिशनों के तहत कृषि विभाग की ओर से वर्ष 2022-23 में खरीफ चारे की 59 हजार 882 मिनीकिटों के साथ ही पशुपालक किसानों को हरे चारे (रिजका, बरसीम, जई ) की 60 हजार मिनीकिट के वितरण का लक्ष्य रखा गया है जिनमे से अब तक 26 हजार 725 बीज की मिनीकिट महिला किसानों को निःशुल्क मिनीकिट का वितरण किया जा चुका है।

इन जिलों में महिलाओं को मिली बीज की निशुल्क मिनीकिट

राजस्थान कृषि विभाग की ओर से राजस्थान मिलिट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन और वितरण जैसे कार्यक्रम के जरिए ही महिलाओं को बीज वितरित किए गए है। जिसमें राजस्थान के कई जिलों में महिला किसानों को निःशुल्क मिनीकिट का लाभ मिला। योजना के तहत कोटा जिले के ग्राम आमली निवासी श्रीमती चंद्रकला को राज्य सरकार द्वारा सरसों के 2 किलोग्राम के बीज की निशुल्क किट दी गयी हैं। ये बीज उच्च गुणवत्ता वाले हैं। उनका कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण वे बीज नहीं खरीद पाती थी जिस वजह से उनके खेत खाली पड़े रहते थे, लेकिन जब से कृषि विभाग द्वारा उन्हें निःशुल्क बीज के मिनीकिट दिए जा रही है तब से उन्हें आर्थिक संबल प्राप्त हुआ है और खाली खेतों में फसल लहराने लगी है। वहीं, जयपुर जिले की ग्राम हिंगोनिया निवासी सरजो देवी कहती हैं कि उन्हें वर्ष 2022-23 में कृषि विभाग द्वारा सरसों बीज की मिनीकिट दी प्राप्त हुई थी। जिससे वे आगामी वर्ष में फसल में अच्छी पैदावार का अनुमान लगाती है।

योजना के तहत ये महिलाएं होगी पात्र

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से बताया जा रहा है कि राजस्थान कृषि विभाग ने योजना के तहत निःशुल्क बीज की मिनीकिट का वितरण के लिए कुछ पात्रता सुनिश्चित की गई है। जिसमें योजना के तहत मिनीकिट का वितरण में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाली महिला कृषकों को प्राथमिकता दी जा रही हैं। साथ ही मिनीकिट महिला के नाम से दिए जाएंगे, चाहे भूमि महिला के पिता, पति, ससुर के नाम से हो। एक महिला को मिनीकिट का एक ही पैकेट दिया जाएगा।

महिला किसान ऐसे प्राप्त कर सकती है मिनीकिट

राजस्थान के कृषि आयुक्त कानाराम का कहना है कि महिला किसानों को आर्थिक संबल प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना चलाई जा रही है। इस स्कीम के तहत राजस्थान मिलिट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन और वितरण जैसे कार्यक्रम के जरिए ही महिलाओं को बीज वितरित किए गए है। उन्होंने बताया कि मिनीकिट के वितरण से बेहतर परिणाम निकल कर आ रहे हैं। इससे न केवल राज्य में खरीफ की फसलों का उत्पादन बड़ा हैं बल्कि रबी में भी इस बार ज्यादा क्षेत्र में बुवाई की गयी हैं। इससे राज्य की सकल घरेलु उत्पाद में वृद्धि होने के साथ ही किसानों की आय में भी बढ़ोतरी होगी। कृषि आयुक्त कानाराम ने बताया कि महिलाओं को दी जा रही बीजों की मिनी किट का वितरण संबंधित कृषि पर्यवेक्षक के माध्यम से किया जाता है। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग की ओर से मिनीकिट का वितरण जन आधार कार्ड के माध्यम से ही किया जा रहा है। किसान अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए निकटतम कृषि कार्यालय में संपर्क कर सकते है। इसके अलावा किसान कॉल सेंटर के निःशुल्क दूरभाष नंबर 1800-180-1551 पर बात कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। निःशुल्क बीज वितरण योजना की अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

निःशुल्क बीज वितरण योजना राजस्थान FAQ

Ques 1. निःशुल्क बीज वितरण योजना क्या हैं?

Ans. कृषि में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत राजस्थान मिलिट्स प्रोत्साहन मिशन और राजस्थान बीज उत्पादन और वितरण जैसे कार्यक्रम के जरिए महिलाओं को निःशुल्क बीज के मिनीकिट वितरित किए गए है।

Ques 2. मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना कब शुरू हुई?

Ans. राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत मुख्यमंत्री बीज स्वावलम्बन योजना वर्ष 2017-18 में प्रारम्भ की गई।

Ques 3. बीज मिनिकिट की प्राप्ति कैसे होती है?

Ans. राजस्थान कृषि विभाग की ओर से मिनीकिट का वितरण संबंधित कृषि पर्यवेक्षक के माध्यम से किया जाता है। किसान अपने निकटतम कृषि विभाग से जन आधार कार्ड के माध्यम से मिनीकिट प्राप्त कर सकते हैं।

Ques 4 योजना के तहत मिनीकिट वितरण के लिए क्या पात्रता सुनिश्चि की गई हैं?

Ans . येाजना के तहत मिनीकिट वितरण केवल अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाली महिला किसानों को ही दिया जाएंगा। एक महिला को मिनीकिट का एक ही पैकेट दिया जाएगा।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह महिंद्रा ट्रैक्टर व स्वराज ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors