ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

मिलेट्स स्टोर खोलने पर सरकार देगी 20 लाख रूपए का अनुदान, किसान यहाँ करें आवेदन

मिलेट्स स्टोर खोलने पर सरकार देगी 20 लाख रूपए का अनुदान, किसान यहाँ करें आवेदन
पोस्ट -18 दिसम्बर 2023 शेयर पोस्ट

श्री अन्न योजना : मिलेट्स स्टोर खोलने के लिए सरकार द्वारा दिया जायेगा अनुदान, जानें आवेदन प्रक्रिया की पूरी जानकारी 

Millets : भारत सरकार की पहल पर देश समेत संयुक्त राष्ट्र में साल 2023 को अंतरराष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष के तौर पर मनाया जा रहा है। भारत में “श्री अन्न योजना” के तहत मोटे अनाजों (मिलेट्स) की खेती को खूब बढ़ावा दिया जा रहा है। जिसके चलते वर्तमान में देश के अंदर मिलेट यानी मोटे अनाज की चर्चा चारों ओर जोर-शोर से है। इस बीच देश में  ज्वार, रागी,  कुट्टू, काकुन, सांवा, कोदो और बाजरा जैसे मोटे अनाज यानी मिलेट की खेती करने वाले किसानों के लिए एक अच्छी खबर है। मिलेट के कद्रदानों को मिलेट का महत्व बताने के लिए सरकार द्वारा दिल्ली के वसंत कुंज में मिलेट मेले का आयोजन किया गया। इसके माध्यम से लोगों को मोटे अनाज से बने खाद्य पदार्थ के इस्तेमाल एवं इनमें मौजूद पोषक तत्व तथा इसके सेवन के फायदे से अवगत कराया गया। वहीं, मोटे अनाज यानी मिलेट के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सरकार किसानों से लेकर आम लोगों को मिलेट्स बीज उत्पादन हेतु सीडमनी, मिलेट्स प्रसंस्करण, पैकिंग सह विपणन केंद्र, मिलेट्स मोबाइल आउटलेट एवं मिलेट्स स्टोर खोलने के लिए भारी अनुदान दे रही है।

New Holland Tractor

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री और जनजातीय कार्य मंत्री ने किया शुभारंभ

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा वसंत कुंज नई दिल्ली स्थित ब्रिज एंबिएंस मॉल, डीएलएफ प्रोमेनेड में दो दिवसीय मिलेट मेले का आयोजन किया गया। इस मिलेट मेले को आसियान-भारत श्रीअन्न महोत्सव नाम दिया गया है। इस मिलेट मेले को लगाने का उद्देश्य देश में मोटे अनाज के उपयोग को बढ़ावा देना है। दिल्ली के वसंत कुंज में आयोजित इस दो दिवसीय मिलेट मेले का शुभारंभ गुरुवार (14 दिसंबर) को केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री और जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा द्वारा किया गया। इस दो दिवसीय महोत्सव में भारत सहित आसियान देशों के नीति-निर्माता, उद्यमी, विशेषज्ञ स्टार्टअप एवं अधिकारियों ने भाग लिया।

विदेशी प्रतिनिधियों को मिलेट के फायदों से कराया अवगत

मेले का शुभारंभ करने के बाद महोत्सव में शरीक हुए विदेशी प्रतिनिधियों को संबोधित करते कृषि मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष के अनुरूप, महोत्सव का उद्देश्य जागरूकता बढ़ाना तथा श्री अन्न एवं श्री अन्न आधारित उत्पादों के लिए वृहद बाजार स्थापित करना है। मंत्री ने मेला महोत्सव में शामिल हुए विदेशी प्रतिनिधियों को संबोधित करते कहा कि श्री अन्न किसानों, उपभोक्ताओं एवं पर्यावरण हेतु असंख्य लाभ प्रदान करते हैं। साथ ही वैश्विक खाद्य पोषण सुरक्षा में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। उन्होंने श्री अन्न के उत्पादन व खपत को बढ़ावा देने के लिए सरकारी नीतियों एवं बाजार नवाचारों पर चर्चा करते हुए इसकी बढ़ी खपत संबंधित सामाजिक-आर्थिक, पोषण एवं जलवायु संबंधी फायदों से प्रतिनिधियों को अवगत कराया।

मिलेट्स स्टोर की स्थापना के लिए अनुदान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार देश में श्री अन्न योजना लागू कर किसानों एवं हितधारकों को श्रीअन्न की उत्पादकता, गुणवत्ता और संबंधित उत्पादन विधियों को बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इन्हीं के बीच उत्तर प्रदेश सरकार भी श्री अन्न एवं इससे जुड़े हितधारकों के उत्थान पर विशेष काम कर रही है। मिलेट यानी मोटे अनाजों को बढ़ावा देने के लिए हाल में ही योगी सरकार ने राज्य में श्रीअन्न महोत्सव का भी आयोजन किया था। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरोद्धार प्रोग्राम के माध्यम से मिलेट्स बीज उत्पादन के लिए सीडमनी, मिलेट्स प्रसंस्करण, पैकिंग सह विपणन केंद्र, मिलेट्स मोबाइल आउटलेट और मिलेट्स स्टोर खोलने के लिए योगी सरकार द्वारा अनुदान दिया जा रहा है। इसके लिए 11 दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन / बुकिंग की  प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। इच्छुक स्वयं सहायता समूह / कृषक उत्पादक संगठन / उद्यमी / कृषकों द्वारा मिलेट्स मोबाइल आउटलेट / मिलेट्स स्टोर में से किसी एक की स्थापना पर अनुदान का लाभ लेने के लिए विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन  किया जा सकता है।

मिलेट्स बीज उत्पादन हेतु सीडमनी

उत्तर प्रदेश में मिलेट्स बीज उत्पादन के लिए सीडमनी के अंतर्गत किसान उत्पादक संगठन (FPO) लाभ के लिए आवेदन कर सकते हैं। सरकार द्वारा इस पर प्रत्येक एफपीओ को 4 लाख रुपये का अनुदान दिया जाएगा। इस योजना के माध्यम से केवल वे ही किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) लाभ ले सकते है, जिन्होंने खरीफ वर्ष 2023 में मिलेट्स (मोटे अनाज) के बीज का उत्पादन कराया हो और 100 क्विंटल मिलेट्स के विभिन्न फसलों के बीज सही प्रक्रिया से निकालकर भंडारित किया हो।

मिलेट्स प्रसंस्करण एवं पैकिंग सह विपणन केंद्र

प्रदेश सरकार ने राज्य के किसानों को मोटे अनाज के प्रति प्रोत्साहित करने एवं बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरुद्वार कार्यक्रम 2023-2024 लागू किया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से किसानों को मिलेट्स यानी मोटे अनाजों के उत्पादन के लिए अधिक प्रोत्साहित किया जाएगा। वैश्विक स्तर पर मोटे अनाज की मांग बढ़ती जा रही है। इसलिए वर्तमान में मोटे अनाज का उत्पादन करने और उसे बढ़ावा देने के लिए मिलेट्स पुनरुद्वार कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ है। इस पोर्टल का लाभ प्रदेश के सभी किसानों व नागरिकों को दिया जाएगा। इस पोर्टल के अंतर्गत मिलेट्स प्रसंस्करण व पैकिंग सह विपणन केंद्र के लिए भी राज्य के उद्यमी व एफपीओ (FPO) आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने वाले कृषक उत्पादक संगठन (FPO) पंजीकृत और ग्रेडिंग में पास होना चाहिए और कम से कम 3 वर्ष पुराने हों तथा उनका 100 लाख रुपए का टर्नओवर होना चाहिए। अनुदान के लिए अर्हता डीपीआर के मुताबिक, लागत का 50 प्रतिशत या अधिकतम 47.50 लाख रुपए निर्धारित है

मिलेट्स मोबाइल आउटलेट व मिलेट्स स्टोर के लिए इतना मिलेगा अनुदान 

मिलेट्स मोबाइल आउटलेट व मिलेट्स स्टोर के लिए 2 साल पुराने स्वयं सहायता समूह / कृषक उत्पादक संगठन (.एफ .पी . ओ.) / उद्यमी / कृषक आवेदन कर सकते हैं। प्रदेश में बीज विकास निगम के साथ एफओयू किया होना अनिवार्य है। विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के अनुसार मिलेट्स मोबाइल आउटलेट के लिए अधिकतम 10 लाख रुपए व मिलेट्स स्टोर हेतु अधिकतम 20 लाख रुपए का अनुदान किसानों और नागरिकों को मिलेगा। विभागीय पात्रता के अनुसार, लाभार्थी के पास कम से कम 3 वर्ष पुराने कृषक उत्पादक संगठन एवं मोबाइल आउटलेट के लिए वाहन और मिलेट्स स्टोर के लिए दुकान का होना आनिवार्य है। आवेदक एफपीओ संस्था के बैंक खाते में 10 लाख रुपए और एफओयू में न्यूनतम 300 शेयरधारक का होना भी अनिवार्य है।

उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरुद्वार कार्यक्रम 2023-2024 में आवेदन की प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरुद्वार कार्यक्रम 2023-2024 में आवेदन के लिए पात्रता शर्ते एवं आवेदन का पूरा प्रोसेस विभागीय पोर्टल (www.agriculture.up.gov.in) पर उपलब्ध है। लाभार्थी को विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीयन के लिए उपलब्ध लिंक पर संबंधित विवरण भर कर सबमिट करना होगा।  इसके बाद आवेदन फॉर्म का प्रिंट प्राप्त कर उसमें पूछी गई संबंधित जानकारी को दर्ज कर आवेदन पत्र के साथ अपने दस्तावेज को संलग्न कर संबंधित जनपदीय उप कृषि निदेशक कार्यालय में जमा करवाना होता है। आवदेक का कृषि निदेशक द्वारा एक परीक्षण लिया जाएगा। सबसे अधिक अंक प्राप्त करने वाले अधिकतम 2 किसान उत्पादक संगठन (एफ.पी.ओ) के आवेदन को राज्य स्क्रीनिंग समिति को ऑनलाइन भेज दिया जाएगा। आवेदन अनुमोदित किए जाने के बाद उसके बैंक खाते में 4 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। इस तरह उत्तरप्रदेश मिलेट्स पुनरुद्वार कार्यक्रम 2023-24 में आसानी से आवेदन हो जाएगा।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors