ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

पोल्ट्री फार्मिंग से किसानों को मिलेगी 21 हजार रुपए की सब्सिडी

पोल्ट्री फार्मिंग से किसानों को मिलेगी 21 हजार रुपए की सब्सिडी
पोस्ट -20 जनवरी 2023 शेयर पोस्ट

 छोटे खर्च में कमायें बड़ा मुनाफा पोल्ट्री फार्मिंग के लिये सरकार से मिलेगी सब्सिडी

पोल्ट्री फार्मिंग (मुर्गी पालन) : देश, विदेश में प्रोटीन के लिए लोगों द्वारा अंडों का सेवन काफी बड़े लेवल पर किया जाता है। जिस वहज से देश के अंदर पोल्ट्री फार्मिंग भी ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में बड़े स्तर पर होती है। लेकिन जैसे ही सर्दियों का मौसम प्रारंभ होता है, वैसे ही देश के सभी हिस्सों में अंडों की खपत बढ़ जाती है, जिसस वजह से अंडों के उत्पादन भी प्रभावित होते हैं। कई बार पाया गया है कि अंडों का उत्पादन इतना कम हो जाता है कि आपूर्ति के लिए अन्य राज्यों से अंडों का मंगवाया जाता है। कई बार तो मुर्गी पालन करने वाले किसान उत्पादन की पूर्ति करने के चक्कर में भारी नुकसान में जाने लगते है। इन्हीं सब के बीच महाराष्ट्र राज्य सरकार की ओर से किसानों के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है। मीडिया की ताजा रिपोर्ट की मानें, तो सरकार राज्य में पोल्ट्री फार्मिंग (Poultry Farming) का विस्तार करने एवं अंड़ों का उत्पादन बढ़ाने के लिए एक खास तरह की नई सब्सिडी योजना लाने जा रही है। इस योजना के तहत राज्य में पोल्ट्री फार्मिंग करने वाले किसानों को काफी अच्छी सब्सिडी भी दी जाएगी। इस नई सब्सिडी योजना लाने के लिए सरकार को योजना का ब्लू प्रिंट भी तैयार राज्य पशुपालन विभाग द्वारा भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि सरकार से हरि झंडी मिलने के बाद योजना को पूरे राज्य में लागू किया जाएग। आईए, ट्रैक्टर गुरु के इस लेख के माध्यम से पूरी योजना के बारे में विस्तार से जानते है। 

New Holland Tractor

पोल्ट्री किसानों को 21 हजार रुपए की सब्सिडी

मीडिया रिपोर्ट की मानें, तो महाराष्ट्र सरकार राज्य में अंडे का उत्पादन बढ़ाने के उद्देश्य से एक नई सब्सिडी योजना लाने जा रही है। इसके लिए पशुपालन विभाग ने योजना का ब्लू प्रिंट बनाकर  शासन के पास मंजूरी के लिए भेज दिया भी दिया गया है। योजना के तहत पशुपालन विभान राज्य के प्रत्येक जिले में पोल्ट्री फार्मिंग के लिए 1 हजार पिंजरों के साथ 50 सफेद लेघोर्न ब्रीड की मुर्गियां के लिए पोल्ट्री  किसानों को 21 हजार रुपए की सब्सिडी राशि भी देगी। योजना को मंजूरी मिलेने के बाद राज्य में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पोल्ट्री फार्मिंग कर रहे लोगों से आवेदन आमंत्रित किए जाएगे। योजना की खास बात यह है कि इसमें छोटे लेवल के पोल्ट्री फार्मिंग किसान भी सब्सिडी के लिए आवेदन कर पाएंगे। अबग आप भी पोल्ट्री फार्मिंग (Poultry Farming) करते है, तो योजना लागू होने से पहले जरुरी दस्तावेज तैयार कर रखले। पशुपालन विभाग द्वारा आवेदन मांगे जाने पर जरुरी दस्तावेजों को खोजना न पड़़े। योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए अपने क्षेत्र के पशुपालन विभाग समय-समय पर संपर्क करते रहें।

महाराष्ट्र में अंड़ा उत्पादन बढ़ाने का मौका

रिपोर्ट के मुकाबिक, महाराष्ट्र में अंडो की खपत बढ़ने से उत्पादन आपूर्ति में कमी आई है। आपूर्ति करने के लिए आस- पास के राज्यों से अंडे मंगवाए जा रहे है, जिनमें कर्नाटक, तेलंगाना और तमिलनाडु से लगभग 2 करोड़ से अधिक अंडों की पूर्ति के लिए मंगवाए जा रहे हैं। पशुपालन विभाग के इस नई सब्सिडी योजना के तहत इस राज्य में इस समस्या से निपटने के लिए पोल्ट्री फार्मिंग किसान सब्सिडी पर मुर्गी पालन कर सकेंगे। सब्सिडी मिलने के कारण राज्य में अधिक से अधिक फार्म मालिक अंडे देने वाली मुर्गीयों का पालन करेगे। इससे राज्य में अंड़ा का उत्पादन बढ़ने लगा और सप्लाई करने वालों को अंडा भी मिलने लगेंगे। बतया जा रहा है कि योजना के आने से राज्य में फार्म मालिकों के पास अंड़े का उत्पादन बढ़ाने का अच्छा मौका मिलेगा। इससे पोल्ट्री फार्म में अंडे का उत्पादन अच्छे लेवल पर बढ़  जाएगा। अंडा उत्पादन बढ़ने राज्य में अंडा सस्ता मिलने लगेगा।

राज्य में प्रत्येक दिन आपूर्ति के लिए 2.25 करोड़ अंडों की आवश्यकता

रिपोर्ट के मुकाबिक, पशुपालन विभाग महाराष्ट्र के अतिरिक्त आयुक्त डॉ. धनंजय पारकले का कहना है कि महाराष्ट्र में प्रत्येक दिन करीब 2.25 करोड़ अंडों की आपूर्ति की जरुत होती है। लेकिन आपूर्ति के लिए राज्य में अंडों का उत्पादन लगभग 1 करोड़  से  1.25 करोड़ के आस-पास तक होता है। इस लिहाज से राज्य में करीब 1 करोड़ अंडों आपूर्ति में की कमी का सामना करना पड़ता है। इस आपूर्ति को पूरा करने के लिए फार्म मालिकों द्वारा पंजाब सहित कर्नाटक, तेलंगाना और तमिलनाडु से अंडा मंगाकर प्रत्येक दिन डिमांड आपूर्ति कर रहे है। 

उत्पादन में कमी होने से राज्य में अंडे की बढ़ गई रेट

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, रोजाना डिमांड की आपूर्ति करने के लिए पंजाब के अलावा अन्य दूसरे राज्यों से अंडा मंगाने की वजह से राज्य के कई बड़े शहरों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी अंडे की रेट में इजाफा हुआ है। रिपोर्टस के अनुसार, महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में अंडों के थोक रेट में 75 रुपए की बढोत्तरी दर्ज कि है। इस समय  औरंगाबाद में अंडों का थोक रेट 575 रुपए प्रति सैंकड़ दर्ज किया गया है। इसके पहले करीब दो महीने पहले औरंगाबाद में अंड़ो का थोक रेट 500 रुपए प्रति सैंकड़ तक था। वहीं, महाराष्ट्र की राजधानी मुबंई शहर में अंड़ो का थोक रेट पहले के तुलना में बढ़ोत्तरी दर्ज कि है। मुबंई में अंडा व्यापरी एक दर्जन अंडे करीब 90 रुपए के रेट से बेचे रहे है। कहीं-कही एक दर्जन अंडे की कीमत 70 रुपए तक भी है। वहीं, पूणे शहर में अंड़ा व्यापरियों को करीब 5.68 रुपए से अधिक थोक रेट अंडे का एक मिल रहा है। इस हिसाब से पूणे में अंडों का थोक रेट 568 रुपए प्रति सैंकड़ा से ऊपर बताया जा रहा है। 

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह सोनालिका ट्रैक्टर व कुबोटा ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors