ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

पान की खेती : 6 जिलों में सरकार से मिलेगी 35 प्रतिशत की सब्सिडी

पान की खेती : 6 जिलों में सरकार से मिलेगी 35 प्रतिशत की सब्सिडी
पोस्ट -09 दिसम्बर 2022 शेयर पोस्ट

पान की खेती के लिए 6 जिलों में किसानो को मिलेंगे 25,900 रुपए, जानें पूरी जानकारी

केंद्र सरकार देश में बागवानी को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का संचालन कर रही है। योजना के माध्यम से किसानों को बागवानी के लिए प्रोत्साहन भी दिया जा रहा है। केंद्र सरकार की इस योजना को देश की कई राज्य सरकारें अपने स्तर पर लागू कर किसानों को बागवानी के लिए प्रोत्साहित भी करती नजर आ रही है। इसी बीच मध्यप्रदेश सरकार ने भी अपने राज्य में बागवानी के क्षेत्र को बढ़ावा देने की तैयारी शुरू कर दी है। राज्य में किसानों को राष्ट्रीय कृषि विकास योजना RKVY के तहत संचालनालय उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश द्वारा बागवानी फसलों की खेती के लिए इकाई लागत पर सब्सिडी दी जा रही है। जिसमें पान की खेती को बढ़ावा देने के लिए उद्यानिकी विभाग ने राज्य के चयनित जिलों में लक्ष्य निर्धारित किया है। राज्य के इन चयनित जिलों में किसानों को पान की खेती करने पर उद्यानिकी विभाग की ओर से अनुदान दिया जाएगा। इच्छुक किसान संचालनालय उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश द्वारा जारी लक्ष्य के विरूद्ध ’उच्च तकनीक से पान की खेती’ के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। ट्रैक्टरगुरु के इस लेख में हम आपको इससे संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले है।

New Holland Tractor

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत आवंटित किए लक्ष्य

संचालनालय उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश ने विभिन्न योजना के माध्यम से उद्यानिकी फसलों की खेती के लिए अलग-अलग लक्ष्य जारी किए है। जिनमें राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (RKVY) वर्ष 2022-23 अंतर्गत उच्च तकनीक से पान की खेती परियोजना में राज्य के 6 जिलों छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, निवाड़ी, दमोह और सागर के सामान्य, अजजा और अजा वर्ग के लिए भौतिक/वित्तीय लक्ष्य आवंटित किए हैं। मध्यप्रदेश के उद्यानिकी विभाग ने राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत ’उच्च तकनीक से पान की खेती’ परियोजना 2022-23 में अनुदान का लाभ लेने हेतु MPFSTS  पोर्टल के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत किए जाने की व्यवस्था की गयी है। आवेदन करते समय कृषक को तीन विकल्प दिए गये है। जिनमें कृषक किसी एक विकल्प का चयन कर सकता है। जिसके बाद चयनित किसानों को पान की खेती के लिए सरकार की ओर से अनुदान दिया जाएगा।

उद्यानिकी विभाग ने आवंटित किए वित्तीय लक्ष्य

उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभान मध्यप्रदेश ने उच्च तकनीक से पान की खेती परियोजना वर्ष 2022-23 के लिए राज्य के 6 चयनित जिलों के किसानों को पान की खेती पर अनुदान का लाभ देने के लिए लक्ष्य जारी किए है। मध्य प्रदेश उद्यानिकी विभाग ने उक्त चयनित 6 जिलों में साभी वर्गों के किसानों के कुल 512 इकाई का लक्ष्य जारी किया है। जिसमें सामान्य के 328, अजजा के 102 और अजा के 82 इकाई का लक्ष्य जारी किया है। जारी लक्ष्य के विरुद्ध उक्त 6 जिलों में सामान्य 84.95, अजजा 26.41 और अजा 21.23 लाख कुल 132.60 लाख रुपए के वित्तीय लक्ष्य आवंटित किए हैं। यह परियोजना बुंदेलखंड रीजन एवं अन्य पान उत्पादक जिलों में क्रियान्वित की जाएगी।

रोजगार के नवीन अवसरों का सृजन करना

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022-23 के अंतर्गत उच्च तकनीक से पान की खेती परियोजना के माध्यम से राज्य में उन जिलों में पान की खेती को बढ़ावा देना है। जिन जिलों में पान की खेती के लिए अनुकूल मौसम है। इस परियोजना के माध्यम से राज्य में पान की खेती के लिए अनुकूल विभिन्न जिलों में छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, निवाड़ी, दमोह और सागर जिलों का चयन किया गया है। इन चयनित जिलों में पान की खेती करने वाले चयनित किसानों को योजना का लाभ दिया जाएगा। परियोजना के माध्यम पान की खेती को बढ़ावा देकर कृषकों के लिए रोजगार के नवीन अवसरों का सृजन किया जा रहा है, ताकि किसानों को स्थायी आय प्राप्त हो सके। बता दे कि पान की खेती की लागत अधिक होती है, इसलिए पान के पत्तों का उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने के लिए सरकार किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराती है ताकि किसान पान की खेती के लिए आवश्यक निवेश कर सकें।

इन किसानों नही मिलेंगा लाभ

मध्य प्रदेश उद्यानिकी विभाग ने राज्य के चयनित जिलों के सभी वर्गों के किसानों को योजना का लाभ देने के लिए लक्ष्य जारी किए हैं। इसके लिए कुल 512 इकाई का लक्ष्य जारी किया है। जारी लक्ष्य के लिए कुल 132.60 लाख रुपए के वित्तीय लक्ष्य आवंटित किए हैं। जिसमें कृषकों को 500 वर्ग मीटर में पान बरेजा की स्थापना केलिए बांस का उपयोग करने पर इकाई लागत राशि 74 हजार निर्धारित की है, जिस पर 35 प्रतिशत अनुदान या अधिकतम राशि 25,900 रुपए देय होगी। पूर्व के लाभान्वित किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

अधिक जानकारी खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश पर देख सकते है

मध्य प्रदेश उद्यानिकी विभाग ने राज्य में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत उच्च तकनीक से पान की खेती परियोजना वर्ष 2022-23 हेतु उक्त 6 जिलों के लिए लक्ष्य जारी किए हैं। जारी लक्ष्य के विरुद्ध सामान्य, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के किसान आवेदन कर योजना का लाभ उठा सकते हैं। किसान भाई उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश के द्वारा जारी लक्ष्य के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उद्यानिकी एवं विभाग मध्यप्रदेश https://mpfsts.mp.gov.in/mphd/#/  पर देख सकते हैं। इसके अलावा किसान अपने ब्लॉक या जिले के उद्यानिकी विभाग में भी सम्पर्क कर सकते हैं।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह महिंद्रा ट्रैक्टर व कुबोटा ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors