ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

किसान पशुपालकों को दी जाएगी 15 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि, ऐसे करें आवेदन

किसान पशुपालकों को दी जाएगी 15 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि, ऐसे करें आवेदन
पोस्ट -13 अक्टूबर 2023 शेयर पोस्ट

पशुपालकों को मिलेगी 15 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि, जानें आवेदन की पात्रता

मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना : सरकार कृषि एवं पशुपालन क्षेत्र में नवाचार व प्रौद्योगिकी के प्रयोग से उत्कृष्ट कार्य करने वाले किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना को संचालित कर रही है। इसमें पशुओं के तकनीकी पालन, पशुओं के नस्ल सुधार कर दुग्ध उत्पादकता में वृद्धि जैसे प्रशंसा योग्य काम करने वाले प्रगतिशील पशुपालक किसानों को सरकार की ओर से प्रोत्साहन राशि भी दी जा रही है। ऐसे में प्रदेश के बलिया जनपद में आयोजित नंद बाबा दुग्ध मिशन बैठक में “मुख्यमंत्री पशुपालक प्रगतिशील प्रोत्साहन योजना” (CMPAHIS) के तहत प्रशासन द्वारा एक बड़ा फैसला लिया गया है। इसमें मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना (Chief Minister Progressive Animal Husbandry Incentive Scheme) के बारे में चर्चा की गई। बलिया के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने प्रदेश में पशुपालकों को पशुपालक प्रगतिशील प्रोत्साहन योजना के प्रति प्रोत्साहित करने पर जोर दिया। आईए, इस लेख के मदद से इस पूरी चर्चा के बारे में विस्तार से जानें। 

New Holland Tractor

मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना 

उप जिला दुग्ध विकास अधिकारी सुधाकर प्रसाद ने बताया कि जिले में नंद बाबा दुग्ध मिशन के अंतर्गत मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसमें उच्च उत्पादकता एवं गुणवत्ता वाली स्वदेशी नस्ल की गायों को पालने के प्रति प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना में स्वदेशी उन्नत नस्ल एवं उच्च उत्पादकता की गायों जैसे गिर, साहीवाल, हरियाणा, गंगातीरी और थारपारकर के प्रगतिशील पशुपालकों को प्रोत्साहित करने के लिए 15 हजार रुपए तक की राशि का नकद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य प्रदेश में उच्च गुणवत्ता और उच्च उत्पादकता वाली स्वदेशी नस्ल की गायों को पालने की प्रवृति को प्रोत्साहित करना है। पशुपालकों को गायों में नस्ल सुधार, उनकी बेहतर देखभाल, गुणवत्तायुक्त पोषण एवं स्वास्थ्य प्रतिरक्षा के प्रेरित करना है। इस योजना के अंतर्गत दुग्ध उत्पादकता में वृद्धि कर पशुपालकों की आय में वृद्धि करना है। 

पशुपालकों को नकद पुरस्कार तथा प्रशस्ति पत्र

सुधाकर प्रसाद के अनुसार, बलिया में “मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना” शुरू की गई है। इसमें प्रगतिशील पशुपालकों का चयन किया जाएगा, जिन्होंने उच्च उत्पादकता तथा गुणवत्ता वाली स्वदेशी नस्ल की गायों जैसे गिर, साहीवाल, हरियाणा, गंगातीरी एवं थारपारकर का पालन किया है। उन्हें योजना के अंतर्गत प्रोत्साहित करने के लिए नकद पुरस्कार तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किए जाएंगे। इसके अंतर्गत प्रतिदिन 8 से 12 लीटर तक दूध देने वाली गाय पालने वाले पशुपालकों को 10 हजार रुपए, 15 लीटर तक दूध देने वाली देशी गायों के पशुपालकों को 15 हजार रुपए नकद पुरस्कार तथा प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।  

इसी प्रकार वे प्रगतिशील पशुपालक जिन्होंने हरियाणवी तथा गंगोत्री नस्ल की गायों का पालन किया है और वे 7 से 8 लीटर प्रतिदिन दूध दे रही हैं, ऐसे पशुपालकों को 10 हजार रुपए दिए जाएंगे। वहीं 10 लीटर से अधिक दूध देने वाली गाय के लिए 15 हजार रुपए की नकद प्रोत्साहन राशि पशुपालकों को दी जाएगी।  

मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना के मुख्य तथ्य

मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक प्रोत्साहन योजना के मुख्य तथ्यों के बारे में जानकारी देते हुए सुधाकर प्रसाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस योजना को प्रदेश के सभी जनपदों में लागू किया है। इसमें गिर, साहीवाल, हरियाणा तथा थारपारकर नस्ल की स्वदेशी गायों का पालन करने के लिए पशुपालकों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के समस्त जनपदों के वे प्रगतिशील पशुपालक आवेदन करने के पात्र होंगे, जिन्होंने गायों में नस्ल सुधार, उनकी बेहतर देखभाल, गुणवत्तायुक्त पोषण एवं स्वास्थ्य प्रतिरक्षा में बेहतर काम किया है। इस योजना में आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। इस योजना के अंतर्गत प्रगतिशील पशुपालकों को अधिकतम 2 गायों के लिए केवल एक बार प्रोत्साहन का लाभ दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत केवल व्यक्तिगत पशुपालक ही आवेदन कर सकते हैं। आवेदन गाय की ब्यांत यानी बच्चा पैदा होने की तिथि से 45 दिनों के अंदर करना होगा।

योजना में पशुपालक ऐसे करें आवेदन

उप जिला दुग्ध विकास अधिकारी सुधाकर प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री प्रगतिशील पशुपालक योजना में आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 अक्टूबर 2023 तय की गई है। इच्छुक प्रगतिशील पशुपालक इस अंतिम तिथि से पहले योजना के अंतर्गत आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए पशुपालक अपने जिला के पशुपालक जिला पशु चिकित्सा कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं। साथ ही आवेदन पत्र को मौके पर ही भरकर जमा भी कर सकते हैं।  उन्होंने कहा कि योगी सरकार की इस योजना का लाभ प्रदेश के उन पशुपालकों को दिया जाएगा, जिन्होंने स्वदेशी नस्ल की गायों के पालने में प्रशंसा योग्य कार्य किया है। 

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर