ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

प्याज स्टोरेज हाउस खोलने पर मिलेगी 75% सब्सिडी, ऐसे करें आवेदन

प्याज स्टोरेज हाउस खोलने पर मिलेगी 75% सब्सिडी, ऐसे करें आवेदन
पोस्ट -10 नवम्बर 2023 शेयर पोस्ट

प्याज स्टोरेज हाउस खोलने पर मिल रही 4.5 लाख रुपए की सब्सिडी, ऐसे करें आवेदन

Onion Price : प्याज की बढ़ती कीमतों ने आम जनता का बजट बिगाड़ दिया है। देश में 30 से 35 रुपए किलो बिकने वाला प्याज अब 45 से 60 रुपए प्रति किलो के भाव से बिक रहा है। प्याज की बढ़ती कीमतों के पीछे मुख्य वजह है, देश में प्याज की सप्लाई के मुताबिक स्टोरेज न होना। बाजार जानकारों द्वारा कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में प्याज की कीमत में और बढ़ोतरी हो सकती है। ऐसे में प्याज की बढ़ी हुई कीमतों का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए आपको बस एक प्याज स्टोरेज खोलना पड़ेगा। खास बात यह है कि इसके निर्माण पर सरकार की ओर से आपको अच्छी खासा अनुदान भी मिलेगा। वहीं, प्याज के स्टोरेज और उसकी नीलामी से आप अच्छा खासा मुनाफा भी कमाएंगे।  

New Holland Tractor

दरअसल, व्यापक प्याज भंडारण प्रणाली विकसित करने के लिए बिहार सरकार ने एक बड़ी पहल की है। राज्य सरकार प्याज स्टोरेज निर्माण के लिए सब्सिडी प्रदान कर रही है। जिससे राज्य में प्याज का व्यापक भंडारण सुनिश्चित कर लोगों को बढ़ती कीमतों से राहत पहुंचाई जा सकें। ऐसे में अगर स्वयं का नया बिजनेस शुरू करने का प्लान बना रहे हैं, तो बिहार सरकार की इस योजना का लाभ उठा अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।  ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले किसान अपने गांव में खुद का प्याज स्टोरेज बना सकते हैं। इसके लिए सरकार 75 प्रतिशत तक का अनुदान दे रही है।

प्याज स्टोरेज यूनिट पर कितनी मिलेगी सब्सिडी

उद्यान निदेशालय, कृषि विभाग, बिहार सरकार के मुताबिक, सब्जी विकास योजना (2023-24) के तहत प्याज भंडारण (onion storage) निर्माण पर सब्सिडी दी जाएगी। विभाग द्वारा इस योजना के तहत 50 मीट्रिक टन प्याज स्टोरेज यूनिट की लागत 6 लाख रुपए तय की गई है। इस पर लाभार्थी को सरकार की ओर से 75 प्रतिशत यानी 4.50 लाख रुपए तक की सब्सिडी मिलेगी। यानी आवेदक योजना के तहत प्याज स्टोरेज यूनिट का निर्माण करते हैं, तो उसे अपनी जेब से सिर्फ 1.50 लाख रुपए खर्च करने होंगे। अक्सर देखा गया है कि प्याज उत्पादक किसान को  प्याज के वाजिब दाम न मिलने के कारण इसे सड़क पर फेंककर प्रदर्शन करना पड़ता है, तो कई बार प्याज के भाव आसमान छूने पर किसान को फायदा न होकर व्यापारियों को होता है। ऐसे में अगर किसानों के पास प्याज के भंडारण की उचित व्यवस्था होगी, तो व्यापारियों के साथ ही किसानों को बढ़ी हुई कीमतों का फायदा मिलेगा।

इन जिलों के किसान कर सकते हैं आवेदन

बिहार सरकार के उद्यान निदेशालय, कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही सब्जी विकास योजना (2023-2024) के तहत प्याज स्टोरेज के निर्माण के लिए फिलहाल राज्य के बक्सर, नवादा, शेखपुरा, औरंगाबाद, गया, नालंदा और पटना जिले के किसान ही आवेदन कर सकते हैं। कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर  ऑनलाइन आवदेन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

यहां करें ऑनलाइन आवेदन

अगर आप बिहार से हैं और राज्य सरकार की इस योजना का लाभ लेकर खुद का प्याज स्टोरेज यूनिट खोलना चाहते हैं, तो इसके लिए उद्यान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए सबसे पहले वेबसाइट https://horticulture.bihar.gov.in पर जाएं। इसके बाद साइट पर उपलब्ध 'सब्जी विकास योजना' के आवेदन पर क्लिक करें। इसके बाद आपको प्याज स्टोरेज यूनिट के निर्माण पर मिल रही सब्सिडी से जुड़े लिंक पर क्लिक करना है। इस लिंक पर आप अपनी सारी डिटेल्स भरें और आवेदन फॉर्म जमा कर दें। इसके अलावा, आप सीएससी केंद्र या वसुंधरा केंद्र की मदद से भी योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

सब्जी विकास योजना के मुख्य तथ्य

  • इस योजना के तहत उच्च मूल्य के सब्जी का बिचड़े (ब्रोकोली, कलर कैप्सीकम तथा बीज रहित खीरा एवं बैगन) हाईब्रिड सब्जी का बीज (फूलगोभी एवं बंधागोभी-रबी मौसम तथा मिर्च, बैगन और लौकी-गरमा) प्याज का बीज, आलू का बीज यूनिट लागत पर 75 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।
  • इसके अतंर्गत प्याज का NHRDF 3 एवं 4 तथा आलू से चिप्स बनाने वाली प्रभेद कुफरी चिपसोना का बीज उपलब्ध कराया जाएगा।
  • योजना तहत इकाई लागत पर 75 प्रतिशत सहायतानुदान पर प्याज भंडारण संरचना के निर्माण कराये जाने का प्रावधान किया गया है।
  • प्याज भंडारण संरचना का अनुमोदित मॉडल एस्टीमेट एवं संरचना का नक्शा (भूमि संरक्षण निदेशालय द्वारा) तथा मॉडल एस्टीमेट एवं संरचना का नक्शा (बी.ए.यू.,सबौर द्वारा) दिए गए लिंक पर उपलब्ध है, जिसे आसानी से डाउनलोड (Download) किया जा सकता है।
  • योजना अन्तर्गत सब्जी में किसी एक उप अवयव मे ही निर्धारित सीमा के तहत लाभ ले सकते हैं।
  • सब्जी का बिचड़ा पर प्रत्येक कृषक को न्यूनतम एक हजार एवं अधिकतम 10 हजार रुपए तक सहायतानुदान पर दिया जाएगा।
  • योजना के तहत सब्जी का बीज वाले कृषकों को न्यूनतम 0.25 एकड़ एवं अधिकतम 2.5 एकड़ तक का बीज सहायतानुदान दिया जाएगा|
  • सब्जी का बिचड़ा की उपलब्धता सेन्टर ऑफ एक्सीलेंस (सब्जी), चंड़ी नालन्दा से तथा सब्जी का बीज की उपलब्धता, बिहार राज्य बीज निगम, पटना के माध्यम से कराई जाएगी।
  • इस योजना का लाभ रैयत कृषक, जमीन के कागजात के आधार तथा गैर रैयत कृषक एकरारनामा के आधार पर ले सकते हैं।
  • एकरारनामा का प्रारूप दिए गए लिंक पर उपलब्ध है, जिसे आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। 

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर