ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

बोक चॉय की खेती - कैसे मिलेगा बोक चॉय की फसल से किसानो को फायदा

बोक चॉय की खेती - कैसे मिलेगा बोक चॉय की फसल से किसानो को फायदा
पोस्ट -05 जनवरी 2023 शेयर पोस्ट

किसानों के लिए लाभदायक साबित हो सकती है बोक चॉय की खेती, जानें खेती का तरीका 

बोक चॉय खेती (Bok Choy Cultivation)  : बदलते दौर में कृषि सेक्टर लोगों की कमाई का एक अहम माध्यम बनाता जा रहा है। इस सेक्टर में किसान अब बाजार जरुरतों के हिसाब से विभन्न प्रकार की महंगी कमर्शियल फसलों को लगाकर कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमा रहे है। अब कृषि सेक्टर में किसान पारंपरिक फसलों के साथ-साथ सब्जियों की खेती पर ध्यान दे रहे है। बीते वक्त के साथ किसान सब्जियों की खेती में पारंपरिक सब्जी फसल को छोड़कर नई-नई मुनाफेदार महंगी सब्जी फसलों की खेती और रुख कर रहे हैं। ऐसे में हम आपको एक ऐसी विदेशी सब्जी फसल के बारे में बताने जा रहे है, जिसे कम समय में उगाया जा सकता है और इससे किसानों को मुनाफा भी होता है। और इसके गमले में भी लगाया जा सकता है। यह बोक चॉय सब्जी फसल है। बोक चॉय को चीनी पत्ता गोभी के नाम से भी जाना जाता है। बोक चोय एक तरह की सब्जी है, जो पत्ता गोभी की तरह दिखाई देती है। पत्ता गोभी की तरह बोक चॉय भी क्रूसिफियर वनस्पति परिवार से आती है। बोक चॉय की पत्तिया लंबी होती है और इसमें पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होती है। बोक चॉय में फाइबर, विटामिन, खनिज, और एंटीऑक्सिडेंट के साथ कम मात्रा में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट भी पाया जाता है। यह शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है। जिस वहज से भारत में इसकी डिमांड बढ़ती जा रही है। इस लिहाज से इसकी खेती किसानों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। चलिए, ट्रैक्टरगुरू के इस लेख में हम आपको बोक चॉय की खेती के बारे मे जानकारी देने जा रहे है।

New Holland Tractor

बोक चॉय का एक फल बाजार में 120 रुपए तक बिकता है

बोक चॉय सभी पत्ता गोभी की तरह ठंड के मौसम की सब्जी फसल है। बोक चॉय में पत्ता गोभी की तुलना में अधिक पोषक तत्व और खनिज पाए जाते है, जो न केवल स्वस्थ्य के लिए फायदेमंद होते है, बल्कि कैंसर जैसी समस्या भी शरीर में पैदा होने से रोकते हैं। इसमें कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, चीनी, वसा, प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाता है। इसके अलावा इसमें  विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के, फोलेट, कैल्शियम आदि की मात्रा भी अधिक होती है। इसका उपयोग सूप, हलचल-फ्राइज और भी अन्य एशियाई पकवानों के लिए किया जाता हैं। इस सब्जी का सेवन करने से इम्युनिटी स्ट्रॉंग होती हैं। बोक चॉय का एक फल की कीमत बाजार में 115 से 120 रुपए तक होती है। देश में इसकी खेती कुछ चुनिंदा हिस्सों में की जाती है। इस कारण देश के बाजार में बोक चॉय की डिमांड काफी बड़े पैमाने पर है। इस लिहाज से बोक चॉय की खेती किसानों के लिए मुनाफेदार खेती साबित हो सकती है। किसान इसकी खेती करके कुछ समय के पश्चात मालामाल हो सकते हैं।

यह भी जाने - बागवानी की खेती समाचार

बोक चॉय की फसल कैसे लगाएं?

पोषक तत्वों से भरपूर बोक चॉय फसल धूप को अच्छी तरह से सहन कर सकती है, लेकिन इसकी फसल आंशिक छाया में अच्छे से वृद्धि करती है। यानि इसकी फसल को अच्छे से लगाने के लिए आंशिक छाया युक्त जगह की आवश्यकता होती है। इसके पौधों को दिन में 4 से 5 घंटे धूप की आवश्यकता होती है। इसका विकास धूप पर निर्भर करता है। छोटे दिन इसके वनस्पति विकास को बढ़ावा देते हैं, और लंबे समय तक फूलों को उत्तेजित करते हैं, जो बोक चॉय बीज फसल का विकास करते है। इसके बीज को फली में रखा जाता है जिसे भूरा और सूखा होने प्राप्त किया जा सकता है। इसके बीज को ठंडे और सूखे स्थान पर तब तक स्टोर किया जाता है। ठंडे और सूखे स्थान से इसके बीज को बोने के समय निकाला जाता है।

बोक चॉय उगाने के लिए उपयुक्त मिट्टी

बोक चॉय ठंडे मौसम की एक तरह की सब्जी फसल है। इसकी फसल उगाने के लिए 13 से 21 डिग्री के बीच का तापमान उपयुक्त माना गया है। 23 डिग्री से ऊपर का तापमानद इसकी फसल कों नुकसान पहुंचा सकता है। बोक चॉय को ठंडे मौसम में  अच्छी तरह उगाया जा सकता है। बोक चॉय सर्दियों में अधिक मामूली पत्ते वाले एशियाई साग की तरह कठोर नहीं होती और यह तेजी से वसंत के बीज के लिए पैदा होती हैं। बोक चॉय प्रकाश, उपजाऊ, अच्छी तरह से सूखा में सबसे अच्छा बढ़ता है। इस लिए इसकी उगाने के लिए अच्छी कार्बनिक पदार्थों से युक्त मिट्टी की आवश्यकता होती है। बोक चॉय की खेती के लिए मिट्टी पीएच मान 6.0 से 7.5 के बीच होना चाहिए। इसकी खेती को भरपूर की पानी की अवश्यकता होती है। कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक, उच्च कार्बनिक पदार्थ वाली रेतीली दोमट मिट्टी बोक चॉय की खेती के लिए उपयुक्त माना जाती है।

बोक चॉय की फसल का रोपण

बोक चॉय उच्च आर्द्रता वाली जल्दी से तैयार होने वाली एक सब्जी फसल  है। इससे बीज से लगाया जाता है। गर्मी की आरंभ से पहले हर दो सप्ताह में बीज बोए जाते हैं। इसके बीज बोने से 2 से 3 सप्ताह पहले खेत तैयार करते समय, पोल्ट्री खाद से खाद 0,5 किग्रा/ वर्ग की दर से देनी चाहिए। नाइट्रोन की आधी खुराब रोपण के समय दी जाती है। और फॉस्फेट और पोटाश उर्वरकों की पूरी खुराक को रोपण के पहले या रोपण के दौरान देनी चाहिए। खुले खेत में इसकी बुवाई की गहराई 0.6 से 1,2 सेमी रखनी चाहिए। पंक्तियों में पौधों से पौधों के बीच की दूरी 15 से 30 सेमी और पंक्तियों के बीच दूरी 30 से 45 सेमी रखना चाहिए। लघु बोक-चॉय फसल  प्राप्त करने के लिए, दूरी कम रखी की जाती है। बर्फ का खतरा समाप्त होने के बाद आप नर्सरी में पौधे लगाने के लिए नर्सरी रोपाई भी खरीद सकते हैं।

भारत में  ट्रैक्टर की कीमत जानकारी के लिए यहां क्लिक करे 

बोक चॉय फसल कटाई

बोक चॉय की निरंतर खपत के लिए बोई गई फसल बुवाई से 6 से 8 सप्ताह के बाद कटाई के लिए तैयार हो जाती  है। बोक चॉय की फसल की पत्तियों को 10 से 15 ऊंचाई पर काट दिया जाता है। इसके छोटी किस्में 6 इंच लंबी होती हैं और बड़े किस्में 2 फीट तक बढ़ती है। गर्मियों के अंत में बोक चॉय लगाने से आप खाली बेड में दूसरी फसल प्राप्त कर सकते हैं, जो कि दिन के अधिकांश समय के लिए सूरज से रोशन होती है। इसकी फसल ठंड के मौसम में अधिक स्वादिष्ट साग का उत्पादन करते हैं। एक हल्का ठंढ पत्तियों के स्वाद में सुधार करता है। इसके बच्चे उत्पादन के लिए बोने के लगभग एक महीने पश्चात फसल प्राप्त कर सकते है। भविष्य में, बीज का एक नया बैच हर दो सप्ताह में बोया जा सकता है, जिससे परिवार को एक निरंतर हरा बैच प्रदान किया जा सके।

बोक चॉय को संग्रहीत करना

बोक चॉय की फसल का कटाई के बाद आप शून्य तापमान एवं 100 प्रतिशत आर्दता पर 3 से 4 सप्ताह तक संग्रहीत कर सकते है। रेफ्रिजरेटर में पॉलीथीन में बोक चॉय के पौधों को एक सप्ताह तक संग्रहीत किया जा सकता है।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह कुबोटा ट्रैक्टर व सोलिस ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors