ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

मौसम अपडेट : देश में एक्टिव होगा आईओडी, रबी फसलों को मिलेगी बेहतर सिंचाई

मौसम अपडेट : देश में एक्टिव होगा आईओडी, रबी फसलों को मिलेगी बेहतर सिंचाई
पोस्ट -15 सितम्बर 2023 शेयर पोस्ट

वेदर अपडेट : बारिश की कमी से जूझ रहे राज्यों को मिलेगी राहत, रबी फसलों के लिए नहीं होगी पानी की कमी

Weather Update : देश में अभी दक्षिण-पश्चिम मानसून खत्म होने वाला है, जिससे बारिश का दौर बंद होने वाला है। परंतु अच्छी बात ये है कि एक तरफ जहां दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई होगी, तो दूसरी तरफ देश में उत्तर-पूर्व मानसून पॉजिटिव होगा। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया की एक वेदर एजेंसी ने अल-नीनो को मात देने वाले इंडियन ओशन डाइपोल (आईओडी) को लेकर बड़ी भविष्यवाणी  की है। ऑस्ट्रेलिया की वेदर एजेंसी ने दावा किया है कि सितंबर से लेकर दिसंबर महीने तक भारत में इंडियन ओशन डाइपोल यानी आईओडी एक्टिव होगा। जिससे इन महीनों में अच्छी बारिश होने के आसार है। इससे देश की रबी फसलों को बेहतर सिंचाई के लिए पानी की कमी नहीं होगी।

New Holland Tractor

किसानों को मिलेगा बहुत लाभ

ऑस्ट्रेलिया की वेदर एजंसी (Australian Weather Agency) की मानें तो सितंबर से लेकर दिसंबर तक भारत में पॉजिटिव आईओडी बनने की संभावना है। इससे देश में अच्छी बारिश होने की संभावना है। अभी दक्षिण-पश्चिम मानसून (north-west monsoon) का दौर अपने खात्मे की ओर है। वहीं, दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई के साथ ही देश में उत्तर-पूर्व मानसून एक्टिव होगा। ऐसे में अगर आईओडी (IOD) पॉजिटिव होता है, तो उत्तर-पूर्व मानसून के दौरान अच्छी बारिश होने की संभावना बनेगी। इससे देश के किसानों को खेती-बाड़ी को बहुत लाभ मिलेगा। आईओडी जब पॉजिटिव होता है, तो अल-नीनो (al Nino) का असर कम होता है। देश के जिन इलाकों में अल-नीनो के असर से कम बारिश (Rain) के कारण सूखे जैसी स्थिति उत्पान हुई है। उन इलाकों में आईओडी एक्टिव होने से अच्छी बारिश होने की संभावना बनेगी, जिससे उन इलाकों में सूखा खत्म होगा। आईओडी का सबसे ज्यादा लाभ आगामी रबी फसलों में गेहूं, दलहन और तिलहन को मिलेगा। इन फसलों को अच्छी बारिश मिलने से फसलें लहलहा उठेंगी।

दक्षिण-पश्चिमी मानसून और उत्तर-पूर्व मानसून

भारतीय वेदर एजेंसी की मानें तो जब देश से दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई हो जाती है, तो उत्तर-पूर्व मानसून एक्टिव होता है। दक्षिण-पश्चिम मानसून पॉजिटिव होने से जहां देश में जून से लेकर सितंबर तक बारिश होती है, तो वहीं उत्तर-पूर्व मॉनसून एक्टिव होने पर देश के अंदर सितंबर से दिसंबर तक बारिश रहती है। उत्तर-पूर्व मानसून नाम हवा की गतिदिशा के मुताबिक रखा गया है। क्योंकि इस मॉनसून का रुख उत्तर-पूर्व की तरफ होता है। इसकी हवाएं उत्तर-पूर्व से दक्षिण-पश्चिम की ओर चलती हैं। चलने के दौरान ये हवाएं बंगाल की खाड़ी से नमी सोखती हैं और देश के कई राज्यों में बारिश कराती हैं। इनमें तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल राज्य शामिल हैं। 

अगले 24 घंटों के दौरान इन राज्यों में हल्की, मध्यम और भारी बारिश संभव

स्काई वेदर एजंसी की मानें तो अगले 24 घंटों के दौरान देश के दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश और उत्तरी मध्य महाराष्ट्र में भारी बारिश होने संभावना है। वहीं, पूर्वी गुजरात, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अगले 24 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है। इसके अलावा, पूर्वी राजस्थान में मध्यम से भारी बारिश होने की भविष्यवाणी वेदर एजंसी ने की है। वेदर एजंसी का कहना है कि अगले 24 घंटों के दौरान देश के उत्तर प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, उत्तरी पंजाब, उत्तरी हरियाणा और लक्षद्वीप राज्यों में हल्की से मध्यम बारिश देखी जा सकती है। वहीं, दिल्ली, शेष हरियाणा और पंजाब, पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और आंतरिक कर्नाटक में हल्की बारिश की गतिविधियां संभव है। 

देश भर में हुई मौसमी हलचल

वेदर एजंसी ने कहा है कि देशभर में पिछले 24 घंटों के दौरान कई स्थानों पर हल्की से मध्यम और भारी बारिश की गतिविधियां देखने को मिली है। ओडिशा, विदर्भ, दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और उत्तरी कोंकण और हिमाचल प्रदेश, केरल, तटीय कर्नाटक के कुछ हिस्सों, उत्तराखंड, जम्मू संभाग में पिछले 24 घंटोंके दौरान मध्यम से भारी बारिश हुई है, जबकि छत्तीसगढ़ में भारी बारिश देखने को मिली। वहीं, पिछले 24 घंटों के दौरान, पूर्वोत्तर भारत, दक्षिणी उत्तर प्रदेश, दक्षिणी गुजरात, तमिलनाडु, कोंकण और गोवा, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में हल्की बारिश हुई, जबकि पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, झारखंड, उत्तर-पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मणिपुर, मिजोरम, तेलंगाना और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश की गतिविधिया हुई। 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जानें कैसे रहेगा मौसम का हाल

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बीते दिन बारिश की गतिविधियां देखने को मिली है। जिस वजह से दिल्ली में लोगों को शुक्रवार को उमस भरी गर्मी से राहत मिल गई है। आईएमडी ने कहा कि दिल्ली में शुक्रवार को बादल छाये रहेंगे। इस दौरान  दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश होने की चेतावनी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने जारी की है। आईएमडी का कहना है आज राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अधिकतम तापमान 36 जबकि न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस तक रहने की की संभावना है। इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी में 6 से 16 किमी प्रति घंटे की गति से हवा चलने की संभावना है। 

मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) का कहा कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज अधिकतम तापमान 34 डिग्री और न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है। इसी के साथ, आज लखनऊ में बादलों छाये रहेगे। वहीं, गाजियाबाद न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है। इसके अलावा, गाजियाबाद में आज आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे।  

विदाई से पहले मानसून ने राजस्थान में किया कमबैक

मौसम विभाग, आईएमडी की मानें तो राजस्थान में एक बार फिर विदाई से पहले मानसून ने कमबैक किया है। प्रदेश में मानसून ने जून-जुलाई में जमकर बारिश कराई, लेकिन इसके बाद अगस्त का पूरा महीना और आधा सितंबर लगभग सूखा ही निकल गया। लेकिन अब प्रदेश में एक बार फिर से मानसून के कमबैकर से प्रदेश में बारिश का आंकड़ा सीजन की औसत बरसात के आस-पास पहुंच गया है। वहीं, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों दौरान बारां, चित्तौड़गढ़, झालावाड़, कोटा, प्रतापगढ़ में मेघगर्जन और वज्रपात के साथ भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर और बीकानेर संभाग के कुछ इलाकों में भी 4 से 5 दिन बारिश होने की संभावना है। 

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर