ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

पीएम कुसुम योजना : सोलर पंप सब्सिडी लेने का आखिरी मौका, 20 जून तक करे आवेदन

पीएम कुसुम योजना : सोलर पंप सब्सिडी लेने का आखिरी मौका, 20 जून तक करे आवेदन
पोस्ट -10 जून 2024 शेयर पोस्ट

पीएम कुसुम योजना : किसानों को सोलर पंप सब्सिडी लेने का आखिरी मौका, 20 जून तक करे आवेदन

PM Kusum Yojana 2024 : देश में किसानों को फसलों की सिचांई के लिए पर्याप्त पानी मिले। इसके लिए सरकार द्वारा सब्सिडी पर सौर ऊर्जा से चलने वाले ऑफ ग्रिड सोलर पंप सेट उपलब्ध कराए जाते हैं। इसके लिए प्रधानमंत्री-कुसुम योजना (PM Kusum Scheme) के अंतर्गत समय-समय पर राज्य सरकारों के द्वारा किसानों से आवेदन मांगे जाते हैं। इस कड़ी में राजस्थान के उद्यान विभाग ने मार्च 2024 में पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana) के तहत किसानों को सब्सिडी पर खेत में सोलर पंप स्थापित करने के लिए आवेदनों की जांच कर प्रशासनिक स्वीकृति जारी की थी, जिसमें सैंकड़ों आवेदन अधूरे होने के कारण बैक टू सिटीजन किए गए थे। इसकी जानकारी संबंधित किसानों को मोबाइल के जरिए एसएमएस भेजकर दी गई थी। जिन कृषकों ने अभी तक अपने अधूरे दस्तावेजों को पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड नहीं किया है उन्हें सब्सिडी पर सोलर पम्प लेने के लिए अधूरे दस्तावेजों को ऑनलाइन अपलोड करना होगा।

New Holland Tractor

उद्यान विभाग द्वारा राज किसान साथी पोर्टल पर फिर से आवेदन खोल है यानी जिन किसानों के आवेदन निरस्त हुए थे उनके आवेदन पोर्टल पर रि-ओपन किए जा रहे हैं। ऐसे में जिन किसानों ने सब्सिडी पर सोलर पंप लेने के लिए आवेदन किया था परंतु तय समय सीमा में दस्तावेज अपलोड नहीं कर पाये हैं और उनके आवेदन स्वतः ही निरस्त हो वे सभी पुन: ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। बता दें कि इसके लिए किसानों को 15 दिन पहले ही मेसेज के द्वारा सूचना दी जा चुकी है और किसानों को 15 दिन का समय दिया गया था।

20 जून तक कर अपलोड सकते हैं अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज (You can upload your important documents by 20th June)

उद्यान विभाग के उपनिदेशक केशव कालीराना, श्रीगंगानगर ने बताया कि जिन किसानों ने सब्सिडी पर सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप सेट के लिए योजना में आवेदन किया था, जिन्होंने तय समय सीमा में दस्तावेज अपलोड नहीं किए। इस कारण उनके आवेदन निरस्त हो गए थे। अब उन सभी किसानों को राहत देते हुए सरकार ने दस्तावेज पूर्ण करने का एक और मौका दिया है। जो आवेदन निरस्त हुये थे, वे 5 जून 2024 से लेकर 20 जून 2024 तक राजकिसान साथी पोर्टल पर रि-ओपन कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे में जिन किसानों के आवेदन स्वत: ही निरस्त हो गये थे, वे राज किसान साथी पोर्टल पर निरस्त हुऐ आवेदन को निर्धारित अवधि में रि-ओपन कर आवश्यक दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड कर सकेंगे। बता दें कि किसानों की सिंचाई लागत को कम करने के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी पर सोलर पम्प उपलब्ध कराए जाते हैं।

सोलर पंप के लिए कैसे करें आवेदन? (How to apply for solar pump?)

यह कार्य आवेदक ई-मित्र केंद्र से या स्वयं के मोबाईल से राज किसान साथी पोर्टल पर पूर्व में किए गए ऑनलाईन आवेदन आवश्यक दस्तावेज के साथ अपलोड कर सकेंगे। आवेदन फॉर्म के साथ नवीनतम जमाबंदी, नक्शा, विद्युत विहीन प्रमाण-पत्र अपलोड करने के साथ-साथ अनुबंधित फर्मों में से अपनी इच्छानुसार फर्म का चयन एवं पंप की क्षमता का चयन एचपी में किया जाना होगा है। उद्यान विभाग पीएम कुसुम योजनान्तर्गत राज्य में वर्ष 2023-24 के लिए 3 Hp , 5 Hp, 7.5 Hp और 10 Hp तक सौर ऊर्जा आधारित कृषि ट्यूबवैल तक कृषकों को अनुदान देय है।

क्या हैं पीएम कुसुम योजना? (What is PM Kusum Yojana?)

किसानों को कार्बन मुक्त बेहतर सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पीएम कुसुम (प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान) योजना की शुरूआत की गई थी। साल 2019 में पीएम-कुसम योजना को 3 घटकों के साथ पूरे देशभर के किसानों के लिए लागू किया गया था। इस योजना के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में व्यक्तिगत किसानों को ऑफ-ग्रिड क्षेत्रों में मौजूदा डीजल कृषि पंपों/सिंचाई प्रणालियों के प्रतिस्थापन के लिए सौर कृषि पंप स्थापित करने के लिए सहायता प्रदान जाती है। इसमें सोलर पंप लगाने पर 60 प्रतिशत तक केन्द्र और राज्य सरकारों की तरफ से अनुदान दिया जाता है। साथ कुल लागत का 30 प्रतिशत लोन बैंक के माध्यम से किसानों को उपलब्ध कराया जाता है।

पीएम कुसुम योजना से किसानों को क्या लाभ है? (What are the benefits of PM Kusum Yojana to farmers?)

  • इस योजना के तहत किसान मात्र 10 प्रतिशत की लागत पर अपने खेतों में सोलर पंप स्थापित करा सकते हैं। 
  • किसानों को सोलर पंप सेट की लागत पर 60 प्रतिशत तक का अनुदान लाभ मिलता है, जिसमें भारत सरकार और राज्य सरकार दोनों का 30-30 प्रतिशत का हिस्सा होता है। 
  • योजना के तहत सोलर पंप सेट के कुल खर्च का 30 प्रतिशत तक बैंक लोन मिलता है।  
  • सोलर पंप की स्थापना कराकर किसान बिजली की कमी या बार-बार लगने वाले कट की समस्या से राहत पा सकते हैं। 
  • किसानों को सिंचाई के लिए बिजली का इंतजार नहीं करना पड़ता है, जब आवश्यकता होगी तब इससे बिजली पैदा कर सिंचाई कर सकते हैं। 
  • इसमें आवश्यकता से अधिक बिजली उत्पादन होने पर आप विद्युत विभाग को अतिरिक्तत बिजली बेच कर लाभ कमा सकते हैं।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर