ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

पीएम किसान 14वीं किस्त : 2 हजार रुपए से वंचित रहेंगे 2 करोड़ किसान, जानें समाधान?

पीएम किसान 14वीं किस्त : 2 हजार रुपए से वंचित रहेंगे 2 करोड़ किसान, जानें समाधान?
पोस्ट -25 जुलाई 2023 शेयर पोस्ट

पीएम किसान योजना : 2 करोड़ किसानों के खाते में नहीं पहुंचेगे 2000 रुपए, जानें समाधान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जुलाई को अब नागौर के बजाय सीकर से पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 14वीं किस्त के रूप में 18 हजार करोड़ रुपए की राशि किसानों के खाते में डीबीटी (DBT) के जरिए ट्रांसफर करेंगे। प्रधानमंत्री क‍िसान सम्मान न‍िध‍ि स्कीम (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) में 2 करोड़ से अधि‍क किसान ऐसे हैं, जिन्होंने अब तक ई-केवाईसी नहीं करवाया है। जिसके कारण वे 2 हजार रुपए की किस्त से वंचित रहेंगे। 

New Holland Tractor

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 14वीं किस्त का इंतजार कर रहे किसानों के खातों में जल्द ही 2 हजार रुपए की किस्त पहुंचने वाली है। सरकार की ओर से दिए गए लेटेस्ट अपडेट के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)  27 जुलाई को सीकर में आयोज‍ित एक कार्यक्रम के दौरान बटन दबाकर 9 करोड़ किसानों के बैंक खाते में 18 हजार करोड़ रुपए ट्रांसफर करेंगे। वहीं देशभर के 2 करोड़ किसानों को पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) की 14वीं किस्त से वंचित करना पड़ेगा। इसके पीछे की मुख्य वजह E-KYC प्रक्रिया को बताया जा रहा है। केंद्रीय कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, पीएम किसान सम्मान निधि योजना में अभी तक 2.14 करोड़ से अधि‍क कि‍सानों का ई-केवाईसी (Know Your Customer) अपडेट ही नहीं हुआ है। सरकार की ओर से बार-बार लाभार्थी किसानों से कहा गया कि ई-केवाईसी कराना अनिवार्य है। इसके लिए सरकार की ओर से लगातार समय भी दिया गया। परंतु कई राज्यों में अब तक भी किसानों ने अपने खाते की ई-केवाईसी अपडेट नहीं किया है। जिसकी वजह से अब योजना की 14वीं किस्त का लाभ करीब 2 करोड़ किसानों को कम मि‍लेगा।

नागौर के बजाय सीकर से ट्रांसफर करेंगे किस्त के पैसे

लेटेस्ट अपडेट के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी की 28 जुलाई को राजस्थान के नागौर में होने वाली सभा अब एक दिन पहले 27 जुलाई को सीकर में होगी। प्रधानमंत्री अब नागौर के बजाय राजस्थान के सीकर से 9 करोड़ किसानों के खातों में 2 हजार रुपए की किस्त की राशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए ट्रांसफर करेंगे। लेकिन पीएम सम्मान निधि की 14वीं किस्त का लाभ इस बार उतने किसानों को नहीं मिलेगा जि‍तने को 10वीं और 11वीं कि‍स्त में मि‍ला था। योजना में अतंर्गत चल रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए सरकार की ओर से चल रहे भू-लेख और दस्तावेजों के वेरिफिकेशन के चलते कई करोड़ किसानों को अपात्र घोषित कर योजना से बाहर निकाला जा चुका है। अब ई-केवाईसी वेरिफिकेशन के कारण पहले से करीब 2 करोड़ कम किसानों को किस्त का पैसा मिलेगा। बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अतंर्गत करीब 10 करोड़ से अधिक किसानों ने 11वीं किस्त का लाभ उठाया था, जो अब तक सबसे अधिक है। इसके बाद योजना की 12वीं किस्त के दौरान यह आंकड़ा घटकर 8,55,48,087 किसान रह गया। 13वीं में यह आंकड़ा मात्र 8,11,09,042 किसानों तक ही रह गया। 

किस राज्य में कितने किसानों ने नहीं कराई ई-केवाईसी?

केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, केंद्र सरकार अब तक इस महत्वाकांक्षी पीएम किसान निधि योजना के अतंगर्त अब तक सीधे किसानों के खाते में 2.42 लाख करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर कर चुकी है। इस बार योजना के तहत करीब 18 हजार करोड़ रुपए की राशि सरकार किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफसर करने जा रही है। पहली बार है जब केंद्र की ओर से संचालित किसी योजना के तहत डायरेक्ट कि‍सानों के खाते में इतनी बड़ी राशि सीधे ट्रांसफर की जा रही है।  लेकि‍न, इस योजना की 14वीं किस्त के लाभ से कुछ राज्यों के किसान वंचि‍त रह सकते हैं। जिनमें उनकी खुद की गलती है, क्योंकि उन्होंने अभी तक समय पर ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा नहीं किया है। 

पीएम किसान निधि योजना में राजस्थान के 19,42,417, बिहार राज्य से 14,92,646, उत्तर प्रदेश के 56,91,331, महाराष्ट्र, 18,02,436, पश्चिम बंगाल में 13,41,187 किसानों ने ई-केवाईसी अपडेट नहीं किया है। वहीं, गुजरात में 1455758, मध्य प्रदेश से 1191828, ओडिशा, कर्नाटक, झारखंड, केरल, पंजाब और आंध्रप्रदेश से क्रमशः 1010187, 1000666,543507, 522575, 510603, 503716 किसानों ने दी गई मोहलत तक केवाईसी का काम पूरा नहीं किया है। यह कि‍सानों की खुद की गलती है। 

ई-केवाईसी क्यों करना है अनिवार्य?

केंद्र सरकार की संचालित पीएम किसान योजना गरीब और छोटे-सीमांत किसानों के लिए है। इसमें देशभर से करीब 9.53 करोड़ ऐसे किसान जिनकी भूमि का विवरण पीएम-किसान पोर्टल पर पंजीकृत है। इन सभी किसानों की भूमि का विवरण और बैंक खातों का विवरण आधार से जोड़ा गया है। इस योजना तहत इन सभी किसानों को 14वीं किस्त का लाभ दिया जा रहा है। योजना के तहत पात्र किसानों के खाते में 2000-2000 रुपए की राशि तीन समान किस्तों में ट्रांसफर की जाती है। इस योजना के तहत भूमिहीन किसानों को लाभ नहीं दिया जा रहा है। लेकिन योजना के अतंर्गत करीब 54 लाख से अधिक अपात्र किसानों ने करीब 4352 करोड़ रुपए की राशि का फायदा उठाया है। सरकार ने अब पीएम निधि योजना में काफी सख्ती कर दी है। पात्र किसानों की पहचान के लिए भूमि वेरि‍फ‍केशन और ई-केवाईसी की भी व्यवस्था योजना के तहत की गई है। 

पीमए किसान योजना में ई-केवाई वेरिफिकेशन अनिवार्य

मीडिया जानकारी के मुताबिक, पीएम- किसान योजना के तहत, पात्र किसानों की पहचान करके उनका सही और वेरिफाई डेटा पीएम-किसान पोर्टल पर अपडेट करने की जिम्मेदारी देश के राज्यों सरकारों की हैं। सभी राज्य सरकारें अपने कृषि विभाग और संबंधित विभागों द्वारा लाभार्थियों की पहचान करने के लिए पब्ल‍िक फाइनेंश‍ियल मैनेजमेंट स‍िस्टम (पीएफएमएस), आयकर डेटाबेस सहित सत्यापन और वैलि‍डेशन (मान्यकरण) के विभिन्न स्तरों से जांच करके डेटा पोर्टल पर अपलोड करते हैं। इसके बाद योजना का लाभ पात्र किसानों को डीबीटी के माध्यम से सीधे उनके बैंक खातों में प्रदान किया जाता है।  

ई-केवाईसी कैसे करें?

पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को जल्द ही 14वीं किस्त का लाभ मिलने वाला है। ऐसे में आपके पीएम किसान खाते की ई-केवाईसी कंप्लीट होनी चाहिए। अगर ई-केवाईसी पूरी नहीं है, तो आपकी 14वीं किस्त अटक सकती है। अगर ई-केवाईसी पूरी नहीं है, तो आपने नजदीकी सीएससी सेंटर में जाकर केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करा सकते हैं। किसान स्वयं पीएम किसान पोर्टल पर जाकर भी इस प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं। ई-केवाईसी करना बहुत आसान है। इस प्रक्रिया को आप मात्र 15 रुपए खर्च में पूरा करा सकते हैं। 

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

क्विक लिंक

लोकप्रिय ट्रैक्टर ब्रांड

सर्वाधिक खोजे गए ट्रैक्टर