सरकारी योजना समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

बाढ़ प्रभावित किसानों को मिलेगी सरकारी सहायता, 202 करोड़ रुपए ट्रांसफर

बाढ़ प्रभावित किसानों को मिलेगी सरकारी सहायता, 202 करोड़ रुपए ट्रांसफर
पोस्ट - October 04, 2022 शेयर पोस्ट

जाने, किन जिलों के किसानों को मिला बाढ़ और बारिश से हुए नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा

इस वर्ष खरीफ सीजन में आ-सामान्य मानसून वितरण के कारण कई राज्यों में भारी बारिश के कारण बाढ़ का प्रकोप देखने को मिला तो कही कम वर्षा के कारण सूखे जैसे हालात हैं। ऐसे में प्राकृतिक आपदाओं के चलते किसानों की खरीफ फसलों को काफी नुकसान हुआ है, फसलों को हुए नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत की जाती है। किसान भाइयों ट्रैक्टर गुरु के इस लेख के माध्यम से आज हम आपको फसल नुकसान मुआवजा से जुड़ी सभी जानकारी प्रदान करेंगे।

New Holland Tractor

कर्नाटक, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, तेलंगाना और महाराष्ट्र के कई जिलों में किसानों की हजारों एकड़ फसल भारी बारिश व बाढ़ के चलते बर्बाद हो गई है। वहीं, मध्य प्रदेश में भी बाढ़ और बारिश से किसानों की फसलों को भारी नुकसान हुआ था। मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों को सर्वे कराकर उनकी बर्बाद हुई फसलों पर मुआवजा देने का वादा किया था। अब इसी कड़ी में मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य के तकरीबन 1.91 लाख किसानों के बैंक खाते में 202 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि भेज दी है। मध्य प्रदेश में भारी बारिश एवं बाढ़ प्रभावित जिलों का प्रभावित रकबा लगभग 2 लाख 2 हजार 488 हेक्टेयर है।

मध्यप्रदेश के किन जिलों के किसानों को मिली सहायता राशि

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इस मानसून में अधिक वर्षा के कारण जहाँ शहरी क्षेत्र में व्यवस्थाएँ प्रभावित हुईं, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में किसान वर्ग को अतिवृष्टि के कारण बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था। संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार ने सहायता पहुँचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। मध्य प्रदेश के 19 जिलों विदिशा, भोपाल, अशोकनगर, सीहोर, नर्मदापुरम, श्योपुर, सागर, गुना, रायसेन, दमोह, हरदा, मुरैना, आगर-मालवा, बालाघाट, छिंदवाड़ा, भिंड, राजगढ़, बैतूल और सिवनी जिले के प्रभावित किसानों के खातों में 202 करोड़ 64 लाख रुपये की सहायता राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से डायरेक्ट किसानों के बैंक अकाउंट में राशि ट्रांसफर की गई।

लाभार्थी किसानों से मुख्यमंत्री ने कि बात

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रभावित किसानों को सहायता राशि ट्रांसफर कर कुछ लाभार्थी किसानों से चर्चा भी की। इनमें विदिशा जिले के मनमोहन सिंह दांगी, सागर जिले के संजीव विश्वकर्मा और गुना जिले के रंगलाल शामिल हैं। लाभार्थियों ने बताया कि सर्वे कार्य के संबंध में सहायता राशि की मंजूरी के लिए कही भी चक्कर नहीं लगाने पड़े। सर्वे का कार्य भी समय पर पूरा किया गया, जिससें किसानों को सही समय पर सहायता राशि प्राप्त हुई।

कितने किसानों को मिली सहायता राशि

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कुछ जिले में भारी बारिश के कारण किसान प्रभावित रहे। राज्य सरकार ने ऐसी स्थिति में सभी जरूरी व्यवस्थाएँ कर यह सुनिश्चित किया कि अतिवृष्टि के कारण से किसी की जान न जाए, वहीं किसी को भी अन्य किसी परेशानियों का भी सामना नहीं करना पड़े। मध्यप्रदेश के जिन इलाकों में बाढ़ की स्थिति थी, वहाँ से लोगों को निकालकर राहत शिविरों और सुरक्षित स्थानों तक पहुँचाया गया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बाढ़ का पानी गांव क्षेत्र में उतरने के बाद ग्रामों में जमा मलबा साफ करवाने, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने और अब किसानों को हुए नुकसान पर सहायता राशि पहुँचाने का कार्य किया गया। फसलों के नुकसान का सर्वे करवा कर ग्राम पंचायत में सूची भी प्रदर्शित की गई थी।

मध्य प्रदेश में हुई भारी बारिश के कारण किसानों की खरीफ फसलों के साथ-साथ किसानों के मकान, घरेलू समान और पशुओं का नुकसान उठाना पड़ा था। मकानों के क्षतिग्रस्त होने और घरेलू सामग्री के नुकसान और पशु हानि के लिए मध्य प्रदेश सरकार नें पहले 43 करोड़ 87 लाख रुपये की राशि वितरित कर चुकी है। आज 1 लाख 91 हजार 755 किसानों के खाते में सहायता राशि ट्रांसफर की गई। लाभार्थियों के बैंक खातों में पैसा जमा किया गया है। इसके पहले राजस्व, कृषि, उद्यानिकी और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के संयुक्त दल ने सर्वे का कार्य किया था।

भारी बारिश के कारण फसलों को हुआ था भयंकर नुकसान

अगस्त महीने में भारी बारिश के कारण प्रदेश की नर्मदा समेत अन्य सहायक नदियां उफान पर आ गई थीं। प्रदेश के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा था। भोपाल, शिवपुरी, गुना, नर्मदा पुरम, जबलपुर, सागर के कई इलाकों में पानी जमा होने और लगातार बारिश के चलते हजारों एकड़ खरीफ फसल पानी में डूब गई थीं।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह महिंद्रा ट्रैक्टर  व फार्मट्रैक ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री से जुड़े सभी अपडेट जानने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें - https://bit.ly/3yjB9Pm

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors