सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार ट्रैक्टर समाचार कृषि व्यापार समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार सामाजिक समाचार

कृषि यंत्र योजना : किसानों को किराए पर मिलेंगे आधुनिक कृषि यंत्र, इन फसलों की कर सकते हैं बुवाई

कृषि यंत्र योजना : किसानों को किराए पर मिलेंगे आधुनिक कृषि यंत्र, इन फसलों की कर सकते हैं बुवाई
पोस्ट - June 22, 2022 शेयर पोस्ट

कृषि अभियांत्रिकी विभाग की तरफ से किसानों को दिए जाएंगे दो नए कृषि यंत्र, जानें पूरी जानकारी

भारत एक कृषि प्रधान देश है। देश की आबादी का लगभग एक बड़ा हिस्सा कृषि पर निर्भर है। कृषि क्षेत्र को विभिन्न माध्यमों के जरिए सशक्त बनाया जा रहा है। सभी जानते हैं कि हमारे किसान भाई देश की रीढ़ हैं, उनकी दशा ही देश के हालात को व्यक्त करती है। छत्तीसगढ़ राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार एवं उनके कृषि कार्यों को बेहतर बनाने के लिए सरकार ने कृषि यंत्र योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना के तहत कृषि अभियांत्रिकी विभाग की तरफ से किसानों को दो नए कृषि यंत्र दिए जाएगे। जिनकी मदद से किसान भाई मक्का, अरहर, भिंडी और कई प्रकार की सब्जियों की खेती कर सकते हैं। ट्रैक्टर गुरू की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको कई प्रकार की सब्जियों की खेती करने के लिए कृषि उपकरणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से खेती करके लाभ कमा सकते हैं। तो आइए किराये पर उपलब्ध इन कृषि उपकरणों के बारे में जानते हैं।

New Holland Tractor

कृषि उपकरणों के उपयोग से समय और खर्च की बचत 

राज्य के जरूरतमंद छोटे एवं सीमांत किसानों को अपने खेतों में सब्जियों की बुवाई के लिए रिज्ड बेड प्लांटर एवं डायरेक्ट राईस सीडर कृषि यंत्र किराये पर उपलब्ध कराये जा रहे हैं। ये कृषि यंत्र किसानों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। इन दोनों कृषि यंत्रों की सहायता से सब्जियों की खेती बहुत ही सरल हो गई। इन यंत्रों की मदद से किसान खेत में खाद व बीज का छिड़काव कम समय एवं कम खर्च में आसानी से कर सकते हैं। इन यंत्रों के उपयोग से किसान भाईयों का समय और खर्च दोनों की बचत हो रही है। पहली बार इन यंत्रों के इस्तेमाल करने पर किसान खेत में कतार सूखा बोनी करें। किसान भाई रिज्ड बेड प्लांटर एवं डायरेक्ट राईस सीडर कृषि यंत्र का इस्तेमाल अपने खेत में खरीफ व रबी के सीजन फसलों की बोनी कर सकते हैं। सरकार का इन कृषि यंत्रों को किराये पर उपलब्ध कराने का मूल उद्देश्य कृषि आय में वृद्धि कर राज्य के किसानो की परेशानियों को कम करना, कृषि क्षेत्र में उन्नति करना है। 

इन कृषि यंत्रों की मदद आसानी से कर सकेंगे कतार बोनी, सूखा बोनी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जिला कृषि अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारी ने बताया कि, कृषि कार्यों को आसान बनाने के लिए कार्यालय की तरफ से इस साल सरकार से दो नए कृषि उपकरण मिले हैं। ये कृषि यंत्र धमतरी जिला के किसानों के लिए बेहद लाभकारी है। कृषि अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारी ने आगे बताया कि इस विषय में किसानों का कहना है कि, ये कृषि यंत्र उनके लिए एक दम नया है। इन कृषि यंत्रों की मदद से अब खेत में कतार बोनी, रोपाई की तरह सूखा बोनी को आसानी से किया जा सकेगा। जुताई के समय इन कृषि यंत्रों में बीजों को रखकर खेत में आसानी से बुवाई कर सकते है। खेती में कृषि यंत्रों के बढ़ते योगदान को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा इन कृषि यंत्रों किराये पर देने के लिए विभाग को उपलब्ध कराया गया है।

550 रूपए प्रति घंटा किराए के हिसाब से मिलेंगे ये कृषि यंत्र 

जिला कृषि अभियांत्रिकी विभाग के एक अधिकारी ने बताया मक्का, अरहर, भिंडी और कई प्रकार की सब्जियों की खेती करने के लिए रिज्ड बेड प्लांटर एवं डायरेक्ट राईस सीडर कृषि यंत्र किराये पर उपलब्ध कराये जा रहे हैं। यदि कोई किसान खरीफ फसलों की खेती की बुवाई शुरू करने से पहले इन दोनों कृषि यंत्रों की मांग करना चाहते हैं, तो वह सरलता से इन्हें किराए पर ले सकते हैं। इन कृषि यंत्रों के लिए उन्हें अधिक खर्च करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। कृषि अभियांत्रिकी विभाग की तरफ से इन यंत्रों का किराए 550 रूपए प्रति घंटा के हिसाब से रखा गया है। विभाग के ओर से जरूरतमंद पात्र किसानों की मांग आने पर इन कृषि यंत्रो की निरन्तर सेवा उपलब्ध करवाई जा रही है। इन यंत्रों को किराये पर लेने के लिए किसानो को अपने जिला कृषि अभियांत्रिकी विभाग में आवेदन करना होगा। 

इन दोनों कृषि यंत्रों से लाभ

  • राज्य के छोटे और सीमांत किसान मक्का, अरहर, भिंडी और अन्य सब्जियों की खेती की बुवाई के लिए इन यंत्रों का लाभ आसानी से उठा सकते हैं।

  • रिज्ड बेड प्लाटर यंत्र व डायरेक्ट राईस सीडर दोनों कृषि यंत्रों की सहायता से सब्जियों की खेती करना बहुत सरल हो गया है। 

  • खेती लागत एवं समय की बचत हो रही है।

  • इन दोनों यंत्रों की मदद से किसान खेत में खाद व बीज का छिड़काव कम समय में आसानी से कर सकते हैं।

  • किसान इन दोनों यंत्रों की मदद से खेत में कतार बोनी, रोपाई की तरह सूखा बोनी को आसानी से कर सकते हैं। 

  • किसान जुताई के समय इन यंत्रों का इस्तेमाल बीजों की बुवाई के लिए कर सकते हैं।

  • किसान भाईयों को ये महंगे उपकरण बड़ी आसानी से 550 रूपए प्रति घंटा के हिसाब से किराये पर मिल जाएगा। जिससे किसान खेती से संबंधित कार्य जैसे जुताई से लेकर बीजों की बुवाई तक के तमाम कार्य आसानी से कर सकते हैं।

  • जिला कृषि अभियांत्रिकी विभाग इन दोनों यंत्रों के अलावा रोटावेटर, प्लाऊ, ट्रैक्टर एवं अन्य कई कृषि यंत्र भी किसानों को कृषि कार्य के लिए किराए पर दे रहा है।

ट्रैक्टरगुरु आपको अपडेट रखने के लिए हर माह महिंद्रा ट्रैक्टर  व स्वराज ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य ट्रैक्टर कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर की थोक व खुदरा बिक्री की राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ही ट्रैक्टरगुरु आपको सेल्स रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री से जुड़े सभी अपडेट जानने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें - https://bit.ly/3st5ozQ

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors