ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

सक्सेस स्टोरी :फूलों की खेती से किसान हुआ लखपति, महीने की 1.50 लाख की इनकम

सक्सेस स्टोरी :फूलों की खेती से किसान हुआ लखपति, महीने की 1.50 लाख की इनकम
पोस्ट -31 मई 2023 शेयर पोस्ट

किसान ने फूलों की खेती से करी लाखो की कमाई, महीने में कमाए 1.50 लाख रुपए 

महाराष्ट्र के हिंगोली जिले के एक मजदूर किसान ने फूलों की खेती को हर महीने लाखों रुपए की इनकम का अहम जरिया बना लिया है। किसान ने फूलों की खेती से हर महीने मोटी कमाई करके देश के अन्य किसानों के लिए एक मिसाल पेश की है। इस किसान को देखकर अब यहां के अन्य किसान भी पारंपरिक फसलों को छोड़कर फूलों की खेती कर रहे हैं। दरअसल, महाराष्ट्र के हिंगोली जिले के एक छोटे से गांव दिग्रस के निवासी किसान ने पारंपरिक फसलों को छोड़कर आधुनिक तरीके से फूलों की खेती शुरू की। देखते ही देखते किसान फूलों की खेती से बेहतर उत्पादन लेकर हर महीने लाखों रुपए की कमाई करने लगा। अब किसान ने फूलों की खेती को अपनी इनकम का अहम जरिया बना लिया है। ऐसे में हिंगोली के किसान गजानन माहोरे की किस्मत फूलों की खेती से बदल गई। अब वे फूलों की खेती से हर महीने लगभग 1.50 लाख रुपए की कमाई कर रहे हैं, बल्कि गांव की महिलाओं को भी रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं। मार्केट में फूलों की बढ़ती डिमांड को देखते हुए मराठवाड़ा के किसान अब अलग-अलग फूलों की खेती करने लगे हैं। इस क्षेत्र के किसानों को अब हर महीने लाखों रुपए की इनकम का एक अच्छा जरिया मिल गया है। किसान पारंपरिक फसलों की खेती के स्थान पर फूलों की खेती से अब पहले के मुकाबले दोगुना इनकम कर रहे हैं। आईये, ट्रैक्टर गुरू के इस लेख के माध्यम से सफल मजदूर किसान गजानन माहोरे की सक्सेस स्टोरी के बारे में जानते हैं।

New Holland Tractor

हर महीने करीब डेढ़ लाख रुपए की हो रही है आय

महाराष्ट्र के हिंगोली के प्रगतिशील किसान गजानन माहोरे ने अपने डेढ़ एकड़ खेत में अलग-अलग किस्म के फूलों की खेती शुरू की थी, जिससे उन्होंने लाखों का मुनाफा कमाया। इसके बाद उन्होंने डेढ़ एकड़ जमीन और खरीदी तथा तीन एकड़ जमीन कांट्रैक्ट पर ली। अब उन्हें फूलों की खेती से हर महीने करीब डेढ़ लाख रुपए के आस-पास आय हो रही है। किसान गजानन कहते हैं कि अब वे गांव में ही इस प्रकार की खेती से अच्छी आय कर रहे हैं। साथ ही गांव की दूसरी महिलाओं को भी रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं। 

बहन के कहने पर शुरू की फूलों की खेती

हिंगोली के रहने वाले किसान गजानन माहोरे का कहना है कि पहले मैं और मेरा परिवार मजदूरी का काम करता था, क्योंकि हमारे पास केवल डेढ़ एकड़ जमीन थी। जिसमें पारंपरिक फसलों की खेती करते थे, इससे कोई खास इनकम नहीं होती थी। इस बीच मैंने अपनी बहन के कहने पर फूलों की खेती शुरू की। मैंने अपने डेढ़ एकड़ खेत में देसी गुलाब और गेंदे के फूलों की फसल लगाई, जिससे मुझे शुरुआती दौर में ही अच्छा मुनाफा मिला। उसी मुनाफे के पैसों से मैंने डेढ़ एकड़ जमीन और खरीदी और उसमें भी फूलों की खेती की। अब मैं और मेरा परिवार फूलों को आसपास के मार्केट में बेचकर बढ़िया मुनाफा कमा रहे हैं।

मंदिरों के कपाट से लेकर शादी व त्योहारों में फूलों की जबरदस्त मांग

सफल किसान माहोरे कहते हैं कि मंदिरों के कपाट से लेकर शादी व त्योहारों में फूलों की खूब मांग होती है। उन्होंने बताया कि हिंगोली में आठवां ज्योतिर्लिंग है, तो नांदेड़ में सिक्खों का धर्मस्थल गुरुद्वारा है। दोनों धर्म स्थलों पर देशभर से भक्त आते हैं, जिससे फूलों की मांग बढ़ने लगी तो उन्होंने यह देख फूलों की खेती करना शुरू कर दिया। अब वे गांव की आसपास की महिलाओं को अपने साथ जोड़कर बड़े स्तर पर खेती करते हैं। प्रगतिशील किसान बताते हैं कि उन्होंने मांग के हिसाब से तीन एकड़ जमीन कॉन्ट्रेक्ट पर लेकर कुल 6 एकड़ में गुलाब, गलांडा, निशिगंधा जैसे 10 किस्म के फूलों की खेती की हुई है। इसके उत्पादन से किसान गजानन की हर महीने लाखों रुपये की कमाई हो रही है।

कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने का जरिया फूलों की खेती

किसान गजानन माहोरे कहते हैं कि बदलते मौसम और बढ़ती महंगाई के कारण पारंपरिक फसलों की खेती में किसानों को कई बड़े जोखिम उठाने पड़ते हैं। वे कहते हैं कि आज फसलों के गिरते दाम किसानों के लिए एक बड़ी समस्या है। ऐसे में अगर किसान फूलों की खेती अपनाते हैं, तो उन्हें कम जगह और कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने का जरिया मिल सकता है। फूलों के उत्पादन में ज्यादा लागत और खास देखभाल की कोई जरूरत भी नहीं होती है। फूलों की खेती आप मार्केट के हिसाब किसी भी सीजन और किसी भी किस्म की जमीन पर कर सकते हैं। फसल के लिए आप ड्रिप सिंचाई तकनीक अपना सकते हैं, इससे पौधों की जड़ों को पर्याप्त मात्रा में पानी पहुंचता है और पानी की बर्बादी भी नहीं होती है। 

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors