ट्रैक्टर समाचार सरकारी योजना समाचार कृषि समाचार कृषि मशीनरी समाचार मौसम समाचार कृषि व्यापार समाचार सामाजिक समाचार सक्सेस स्टोरी समाचार

गन्ना किसानों के लिए खुशखबरी, सरकार ने 20 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया गन्ने का मूल्य

गन्ना किसानों के लिए खुशखबरी, सरकार ने 20 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया गन्ने का मूल्य
पोस्ट -19 जनवरी 2024 शेयर पोस्ट

गन्ना किसानों को बड़ी सौगात, सरकार ने 20 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया गन्ना मूल्य,अब गन्ना 370 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा

Sugarcane Price : गन्ना किसानों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है। सरकार ने गन्ने के मूल्य में 20 रुपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की है। यह निर्णय मंत्री परिषद की बैठक में लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में लोक भवन में आयोजित हुई मंत्री परिषद की बैठक में 8 अहम प्रस्तावों पर योगी कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी है। इसमें बहुप्रतीक्षित सेमी कंडक्टर नीति 2024 के साथ ही गन्ना किसानों को बड़ी सौगात देते हुए गन्ना मूल्य में वृद्धि (Sugarcane SAP) के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है। मंत्री परिषद ने पेराई सत्र 2023-24 में सभी गन्ना प्रजातियों के लिए निर्धारित किए गए राज्य परामर्शित मूल्य (SAP) में प्रति क्विंटल 20 रुपए की वृद्धि की है। 

New Holland Tractor

गन्ना किसानों ने पैदावार लागत बढ़ने एवं अन्य राज्यों के मुकाबले गन्ना का मूल्य कम होने के चलते गन्ना मूल्य बढ़ाने की मांग की थी, जिसको लेकर पिछले कई दिनों से गन्ना किसान एवं भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक दल द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था। वहीं, गन्ने का राज्य परामर्श मूल्य (SAP) घोषित करने में सरकार की ओर से हो रही देरी को देखते हुए किसानों ने गन्ने की होली जलाकर सरकार के खिलाफ अपना रोष प्रकट किया। इस बीच प्रदेश सरकार ने गन्ना पेराई सत्र 2023-24 के लिए गन्ने की विभिन्न प्रजातियों के लिए राज्य परामर्श मूल्य (State Advisory Price) घोषित कर दिया है।  

सभी गन्ना प्रजातियों के मूल्यों में 20 रुपए प्रति क्विंटल की वृद्धि

कैबिनेट मीटिंग में हुए फैसले की जानकारी देते हुए प्रदेश के गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने बताया कि पैदावार की बढ़ती हुई लागत एवं किसानों की मांग को देखते हुए कैबिनेट ने गन्ने के मूल्य में वृद्धि करने का निर्णय लिया है। कैबिनेट ने पेराई सत्र 2023-24 के लिए प्रदेश की सभी चीनी मिलों (सहकारी क्षेत्र, निगम और निजी क्षेत्र) द्वारा क्रय किए जाने वाले गन्ना का राज्य परामर्शित मूल्य (एसएपी) का निर्धारण किया है। योगी सरकार ने गन्ने की अगेती प्रजातियों के लिए पिछले सत्र के लिए निर्धारित मूल्य 350 रुपए प्रति क्विंटल को बढ़ाकर 370 रुपए, सामान्य प्रजातियों के लिए 340 रुपए प्रति क्विंटल को बढ़ाकर 360 रुपए और अनुपयुक्त प्रजातियों के लिए 335 रुपए प्रति क्विंटल को बढ़ाकर 355 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है। प्रदेश सरकार ने पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष सभी गन्ना प्रजातियों के मूल्य में 20 रुपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की है।

गन्ना किसानों को मिलेगा अतिरिक्त लाभ

लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में गन्ना मूल्य 20 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाने का फैसला लिया गया है। प्रदेश में समस्त मिलों द्वारा अब गन्ना 370 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा। योगी सरकार ने पिछले 6 सालों में अब तक गन्ना मूल्य में 55 रुपए की बढ़ोत्तरी की है, जबकि पिछली सपा सरकार के कार्यकाल में 5 साल के दौरान मात्र 25 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। 2016-17 में योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद से अब तक गन्ने की कीमत में प्रति क्विंटल 55 रुपए की बढ़ोत्तरी हुई है। इससे पहले प्रदेश में आखिरी बार वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले सरकार ने गन्ना का एसएपी मूल्य बढ़ाकर 350 एवं 360 रुपए प्रति क्विंटल घोषित किया था। प्रदेश सरकार ने इस वर्ष गन्ना के मूल्य में 20 रुपए की वृद्धि कर 370 रुपए प्रति क्विंटल गन्ने का राज्य परामर्शित मूल्य घोषित किया है। इससे प्रदेश के गन्ना उत्पादक किसानों को लगभग 2200 करोड़ रुपए का अतिरिक्त लाभ मिलेगा।

किसानों को एकमुश्त कराया जाएगा भुगतान

गन्ना मंत्री ने बताया कि बैठक में मंत्रीपरिषद ने चीनी मिलों द्वारा क्रय किए जाने वाले गन्ने के मूल्य का एकमुश्त भुगतान किसानों को कराने का निर्णय लिया है। इससे किसानों को एक बार में ही समस्त राशि मिल सकेगी। पेराई सत्र 2023-24 में गन्ने की ढुलाई दर को 45 पैसे प्रति क्विंटल प्रति किलोमीटर अधिकतम नौ रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित की गई है। साथ ही गन्ना किसानों एवं सहकारी गन्ना विकास समितियों के हितों को ध्यान में रखते हुए मंत्री परिषद ने पेराई सत्र 2023-24 के लिए गन्ना समितियों और गन्ना विकास परिषदों को देय अंशदान की दर 5.50 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित करने का निर्णय लिया है, जिसके लिए गन्ना आपूर्ति एवं खरीद विनिमय नियमावली, 1954 के नियम-49 में आवश्यक संशोधन किए हैं। वर्तमान सत्र में 120 मिल चल रही है, जिनमें 40 मिलों द्वारा किसानों को साप्ताहिक भुगतान किया जा रहा है।

सर्वाधिक गन्ना का राज्य परामर्शित मूल्य देने वाले राज्य

देश में सर्वाधिक गन्ना का एसएपी मूल्य हरियाणा राज्य में दिया जा रहा है, जबकि पंजाब अपने सूबे के किसानों को गन्ना का मूल्य 380 रुपए प्रत‍ि क्व‍िंटल दे रहा है। वहीं अब उत्तर प्रदेश में पेराई सत्र 2023-24 के लिए किसानों को 370 (अगेती) प्रति क्विंटल मूल्य का भुगतान किया जाएगा।

क्रं. सं. फसल राज्य गन्ने का एसएपी मूल्य (प्रति क्विंटल)
1 गन्ना हरियाणा 386
2 गन्ना पंजाब 391
3 गन्ना उत्तर प्रदेश 370
4 गन्ना उत्तराखंड 355
5 गन्ना बिहार 335

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गन्ना उत्पादक इन राज्यों में राज्य सरकार द्वारा गन्ने के लिए राज्य परामर्शित मूल्य घोषित किया जाता है, वहीं केंद्र द्वारा गन्ना के लिए एफआरपी (गन्ना का उचित और लाभकारी मूल्य) निधार्रित किया जाता है।

गन्ना मूल्य में वृद्धि को किसान के साथ मजाक बताया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में हुई मंत्री परिषद की बैठक में पेराई सत्र 2023-24 के लिए गन्ने का दाम 20 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर किसानों को बड़ा तोहफा दिया गया है। हालांकि भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) नेता राकेश टिकैत इसे किसान के साथ मजाक बता रहे हैं।  बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा पेराई सत्र 2023-24 के लिए घोषित गन्ने का मूल्य काफी नहीं है। एसएपी में मात्र 20 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ने से किसानों को निराशा हुई है। प्रदेश का किसान हरियाणा की तरह 400 रुपए से अधिक गन्ना मूल्य घोषित होने की आशा कर रहा था, क्योंकि पैदावार लागत बढ़ती जा रहा है। इसके अनुपात में किसान को उपज का वाजिब दाम नहीं मिल रहा है।

Website - TractorGuru.in
Instagram - https://bit.ly/3wcqzqM
FaceBook - https://bit.ly/3KUyG0y

Call Back Button

Quick Links

Popular Tractor Brands

Most Searched Tractors